बिहार विधानसभा चुनाव 2020 : मंत्री जी भड़क उठे सुनकर अपनी दास्ताँ – दिन में CM नीतीश का गुणगान रात में तेजस्‍वी को प्रणाम !

मंत्री जी भड़क उठे सुनकर अपनी दास्ताँ

डेस्क : बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) के पहले छोटे से लेकर बड़े नेता तक अपनी-अपनी गोटी सेट करने में लगे हैं। ऐसा ही एक विवाद मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के मंत्री महेश्‍वर हजारी (Maheshwar Hazari) से जुड़ गया है। राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) के प्रवक्‍ता भाई वीरेंद्र ने कहा है कि महेश्‍वर हजारी दिन में नीतीश कुमार का गुणगान करते हैं तो रात के अंधेरे में आरजेडी नेता तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) से मिलते हैं।

इसके जवाब में महेश्‍वर हजारी ने पलटवार करते हुए कहा कि कोई माई का लाल ऐसा नहीं कह सकता है। बयानों के वार-पलटवार का यह खेल तब शुरू हुआ, जब महेश्‍वर हजारी ने चिराग पासवान (Chirag Paswan) पर तंज कसते हुए कहा कि कोई मुख्‍यमंत्री बनने का सपना नहीं पाले, बिहार में नीतीश कुमार मुख्‍यमंत्री हैं और रहेंगे।चिराग के खिलाफ महेश्‍वर हजारी के बयान पर आरजेडी के प्रवक्‍ता भाई वीरेंद्र ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि महेश्‍वर हजारी दिन में नीतीश कुमार का गुणगान करते हैं तो रात में तेजस्‍वी यादव से मिलते हैं। वे पहले यह तय करें कि कहां रहना है। चिराग पासवान ने जो आग लगाई है, पहले उसे बुझाएं।

भाई वरीेंद्र के बयान पर महेश्‍वर हजारी ने भी पलटवार किया। उन्‍होंने कहा कि भाई वीरेंद्र तो जेडीयू में आना चाहते थे, लेकिन नीतीश कुमार ने एंट्री ही नहीं दी। विपक्ष के 52 नेता जेडीयू में आने वाले थे। उस लिस्‍ट में भाई वीरेंद्र का भी नाम था। इसपर भाई वीरेंद्र ने कहा कि उनका पद की राजनीति में विश्‍वास नहीं है। वे आरजेडी में मजबूती के साथ हैं। महेश्‍वर हजारी रिएक्‍शन में बोल रहे हैं। इसके बाद फिर महेश्‍वर हजारी की बारी थी। उन्‍होंने ललकार भरे लहजे में कहा कि कोई माई का लाल उनके खिलाफ आरोप नहीं लगा सकता है। वे जब तक रहेंगे, नीतीश कमार के साथ रहेंगे।

नीतीश सरकार (Nitish Government) में उद्योग मंत्री महेश्वर हजारी ने चिराग पासवान पर हमला करते हुए कहा कि कुछ लोग पंडित से पत्री दिखाकर आते हैं और बड़े-बड़े सपने देखने लगते हैं। सपने देखना गलत नहीं है, लेकिन उसे पूरा करने के लिए उसके अनुसार काम करना पड़ता है। महेश्‍वर हजारी का यह बयान चिराग पासवान के बीते 13 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र के बाद आया है,। पत्र में अपने कार्यकर्ताओं की राय को बताते हुए चिराग ने कहा है कि बिहार में लोगों में नीतीश कुमार के खिलाफ नाराजगी है और उनके चेहरे पर चुनाव लड़ना उचित नहीं होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *