वोट भी दिया और सफलतापूर्वक निर्जला व्रत भी रखा , मांगी संतान की दीर्घायु की कामना – देखें तस्वीरें

निर्जला व्रत

डेस्क : आज के दिन घर की सभी औरतों ने ना ही खाना खाया और ना ही पानी पिया। बता दे कि बिहार में चुनाव है ऐसे में चुनाव में महिलाओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। हिंदू धर्म के अनुसार शरद पूर्णिमा की शुरुआत में यह त्यौहार मनाया जाता है। त्योहारों के आगमन पर देवी-देवताओं को खुश करने के लिए घर की औरतें व्रत करती हैं।

nirjala wrat 2

बता दें कि यह व्रत की शुरुआत है जो इस व्रत को करता है उसे मनोवांछित संतान प्राप्त होती है और उसके लंबी आयु की कामना की जाती है। अब इस व्रत की शुरुआत हो गई है और 30 सितंबर को इस व्रत का पारण होगा। पंडित के अनुसार हिंदू कैलेंडर बताता है कि प्रति वर्ष आश्विन मास के कृष्ण पक्ष में जीवित्पुत्रिका व्रत रखना बेहद ही आवश्यक होता है। जो इस व्रत को नहीं करता उसे पाप दोष चढ़ता है। यह पाप दोष किसी भी रूप में आ सकता है।

nirjala wrat 3

पंडितों के अनुसार सूर्य नारायण की प्रतिमा को स्नान कराना चाहिए। बता दे की आरती करने के बाद ही भोग लगाना चाहिए। ज्यादातर औरतें इस व्रत को करती हैं। वह सप्तमी को खाना और जल ग्रहण करके व्रत की शुरुआत करते हैं और मन लगाकर इसको अष्टमी तक जारी रखते हैं। जब नवमी का व्रत खत्म हो जाता है तो घर-घर लोगों को प्रसाद बांटा जाता है

nirjala wrat 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

UPSC टॉपर शुभम की कहानी, 6 साल की उम्र में घर छोड़ा, 12वीं में देखा था IAS बनने का सपना मिलिए जागृति से,जानिए कैसे बनीं वो UPSC के महिला वर्ग में देशभर की टॉपर Divya Aggarwal ने जीता BigBossOTT-जानें ट्रॉफी के साथ कितना मिला कैश ? Jio अब बजट रेंज में लॉन्च करेगा लैपटॉप, ये होंगे कीमत और Features Airtel vs Vi vs Jio : जानें 600 रुपये से कम वाला किसका रिचार्ज प्‍लान सबसे बेस्‍ट