क्रिकेट के बाद अब खेती में ‘शाॅट’ लगाने उतरे M S Dhoni, स्ट्रॉबेरी बेचकर कमाए 30 लाख रुपये – अब मुर्गी फाम खोलने की तैयारी

डेस्क : देश के लिए कुछ कर गुजरने की बात हो तो सबके दिमाग में सबसे पहले इंडियन आर्मी का नाम आता है। आप सिर्फ फौजी बन कर ही नहीं बल्कि अन्य काम करके भी भारत का नाम गौरव से ऊंचा कर सकते हैं। कई लोग इस वक्त खेल जगत एवं अन्य विभागों में रहकर भारत का नाम रोशन कर रहे हैं। इसी कड़ी में भारत के पूर्व क्रिकेट कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का भी नाम आता है।

महेंद्र सिंह धोनी के बारे में तो आप बखूबी जानते होंगे, बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी झारखंड रांची के रहने वाले हैं। अक्सर ही आपने उनको खेल के मैदान पर चौके छक्के जड़ते या फिर बतौर विकेटकीपर किल्लियाँ उड़ाते हुए देखा होगा। लेकिन आज हम आपको धोनी के खेत की सैर करवाने वाले हैं। दरअसल महेंद्र सिंह धोनी, रांची में स्थित फार्महाउस पर ही बड़े स्तर पर सब्जियां उगा रहे हैं और इस वक्त वह किसान की एक बेहतरीन जिंदगी जी रहे हैं। महेंद्र सिंह धोनी के अनुसार उनके द्वारा उगाई हुई सब्जियों में किसी भी प्रकार का केमिकल नहीं होता है जिसकी वजह से उनकी सब्जी की डिमांड भारत ही नहीं बल्कि बाहर के बाजारों में भी है।

हाल ही में बीते सीजन के वक्त उन्होंने कम से कम 10 टन स्ट्रॉबेरी का उत्पादन किया था। ऐसे में उनको 30 लाख की मोटी आमदनी हुई थी। इतना ही नहीं वह अपने फॉर्म हाउस पर खरबूजा तरबूज जैसे अन्य फल भी हो उगाते हैं। बताया जा रहा है कि उनके फार्महाउस पर रोजाना 200 किलो खरबूज तैयार किए जा रहे हैं। इन फलों को भारतीय बाजार के साथ-साथ बाहर के बाजार में भी बेचा जाता है। धोनी का यह फार्महाउस 44 एकड़ में फैला हुआ है, इस वजह से उसमें किसी भी प्रकार से केमिकल का उपयोग नहीं किया जा रहा है। केमिकल न होने की वजह से धोनी की फल और सब्जियां काफी स्वादिष्ट होती है। इन फल और सब्जियों की डिमांड बाजार में लगातार बनी रहती है।

महेंद्र सिंह धोनी अब मुर्गी फार्म में भी हाथ आजमाना चाहते हैं, जिसके चलते वह एक कड़कनाथ मुर्गे को लाना चाहते हैं। कड़कनाथ मुर्गी की खास बात यह है कि इसका मास 600 रुपए से लेकर 1000 रुपए किलो तक बाजार में बिकता है। बताते चलें कि महेंद्र सिंह धोनी को सिर्फ क्रिकेट जगत में ही नहीं बल्कि पशुपालन करने के खिताब से नवाजा गया है। आने वाले दिनों में जल्द ही महेंद्र सिंह धोनी को कृषक पुरस्कार भी मिलने वाला है। महेंद्र सिंह धोनी का खेती करने का फैसला काफी सफल साबित हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.