नीतीश सरकार की शराबबंदी पूरी तरह से फेल, दिवाली पर सूबे के इस जिले से जहरीली शराब पीने की वजह से 8 लोगों की मौत

डेस्क : बिहार में नीतीश कुमार का शराब बंद करने वाला मॉडल पूरी तरीके से फेल हो गया है, बता दें कि समय-समय पर राज्य में शराब पीते हुए लोग पाए जाते हैं। इतना ही नहीं बल्कि शराब को अवैध तरीके से बेचते हुए भी लोग पकड़े जाते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए बता दें कि कुछ समय पहले गोपालगंज में जहरीली शराब कांड हुआ था जिसमें कई लोगों की जान चली गई थी।

ऐसे में अब दोबारा से जहरीली शराब का कांड बेतिया जिले में होता हुआ नजर आया है। बेतिया में इस वक्त शराब से 8 लोगों की जान जा चुकी है। जैसे ही आसपास के इलाकों में यह पता चला कि जहरीली शराब की वजह से 8 लोगों की जान चली गई है तो आसपास के माहौल में अफरा-तफरी मच गई। इतना ही नहीं बल्कि हर कोई यह जानने की उत्सुकता दिखाने लगा कि आखिर वह लोग कौन है? जिनके परिवार इस वक्त परेशानी का सामना कर रहे हैं। लोगों का ऐसा मानना है कि शराब पीने की वजह से ही उन लोगों की मौत हुई है। जिन्होंने शराब का सेवन किया, उनमें से कुछ लोगों की हालत गंभीर है।

इस खबर के बाद से अब दोबारा से प्रशासन हरकत में आ गया है। पूरा मामला नौतन थाना क्षेत्र के अंदर आने वाले दक्षिणी तेलहुवा पंचायत से आ रहा है, जहां पर मृतक पंचायत वार्ड नंबर 2,3,4 के बताए जा रहे हैं। इस मामले पर बेतिया के एसपी का कहना है कि अभी तक मृतकों का आंकड़ा स्पष्ट नहीं है, जब तक पूरी तरीके से मृतकों की जानकारी में स्पष्टता नहीं आती है तब तक कोई भी आधिकारिक ऐलान करना सही नहीं होगा।

दरअसल उपर्युक्त बताए गए तेलहुआ पंचायत में चुनाव प्रक्रिया चल रही है, जिसके चलते शराब का वितरण आम हो गया है। ऐसे में रोजाना शराब की पार्टियां देखने को मिलती हैं। शराब पीने वालों की तादाद में इजाफा हुआ है। सभी मृतकों के घर पर यह जानकारी दे दी गई है। हर जगह से लाशों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। जिनकी जान बची गई है वह अपना अलग से इलाज करवाते नजर आ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.