नितीश कुमार : जातिगत जनगणना पर PM मोदी ने दिखाई सहमति, अब जल्द हमारे हित में होगा फैसला

modi and nitish kumar on caste census

डेस्क : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनकी बात जरूर सुनेंगे। ऐसे में नीतीश कुमार की किसी भी मांग को पीएम मोदी नहीं ठुकराएंगे। नीतीश कुमार ने उम्मीद जताई है कि जल्द ही उनकी बातों पर ध्यान दिया जाएगा और फैसला सुनाया जाएगा। ज्यादा जानकारी के लिए बता दें कि नीतीश कुमार ने 10 दलों के साथ बैठक की है।

जातीय जनगणना को लेकर बिहार का पक्ष और विपक्ष एक साथ खड़ा है। ऐसे में तेजस्वी यादव का कहना है कि यह फैसला राष्ट्रहित में है। जिस राज्य में 10 पार्टियां एक मुद्दे पर एकजुट हो गई हों वहां पर अलग राय रखना सही नहीं है। हम सबको साथ खड़े होकर चलना पड़ेगा। तेजस्वी यादव ने साफ लफ्जो में कहा यदि सरकार के पास जानकारी नहीं होगी, तो वह लोगों के लिए कल्याणकारी योजनाएं कैसे बनाएँगे।

नीतीश कुमार ने साफ कहा है कि बिहार में जातीय जनगणना होना जरूरी है। ऐसे में यह देश के लिए एक महत्वपूर्ण मुद्दा है और सभी लोगों को इस तरफ सोचने की जरूरत है। पूरे देश में एक लाख से ज्यादा जातियां हैं जिनकी जनगणना होनी चाहिए। सभी योजनाओं को सही तरीके से चलाने की जरूरत है। यदि जातीय समीकरण सही से पूरा हो जाता है तो इससे देश में जरूर परिवर्तन आएगा।

जातीय जनगणना पर राजद नेता तेजस्वी यादव का कहना है कि यदि जनता की बीमारी का पता नहीं चलेगा तो उसका इलाज कैसे मिलेगा। भारतीय जनता पार्टी में सुशील मोदी का कहना है कि 2011 के कार्यकाल में गोपीनाथ मुंडे ने जातीय जनगणना के बारे में पक्ष दिया था। उस वक्त ग्रामीण विकास, शहरी विकास, जातीय सर्वेक्षण, सामाजिक और आर्थिक जैसे कई मुद्दों पर सहमति जताई है। इस वक्त हर राज्य में जातियों की संख्या लाखों में पहुंच गई है, ऐसे में लोगों की जानकारी तैयार करना बड़ी गड़बड़ साबित हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

10,000 से कम में 6GB रैम तक के स्मार्टफोन, जानिए खूबिया बिग बॉस 15में कदम रखेंगी शहनाज गिल, फिनाले में नम होंगी आंखें! डायबिटीज के मरीज इन चीजों को भूलकर भी न खाएं Republic Day 2022 : जानिए गणतंत्र दिवस से जुड़े वो 10 रोचक तथ्य मिनी ड्रेस में Malaika Arora, बैठकर दिए ऐसे पोज; इंटरनेट पर मचा बवाल