गोपालगंज शराबकांड में 9 आरोपियों को फाँसी की सजा दिए जाने को नीतीश कुमार ने बताया ऐतिहासिक, जाने क्या था पूरा मामला…

डेस्क : गोपालगंज जहरीले शराबकांड में 9 आरोपियों को फांसी की सजा दिए जाने को नीतीश कुमार ने ऐतिहासिक फैसला बताया है। नीतीश कुमार ने कहा कि यह फैसला सभी शराब बेचने वालों के लिए एक सबक होगा। गौरतलब है कि गोपालगंज के बहुचर्चित खजूरबानी शराबकांड में सजा सुनाते हुए कोर्ट ने गुरुवार को 13 में से 9 दोषियों को फाँसी की सजा सुनाई है।

क्या कहा मुख्यमंत्री ने- मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि यह एक ऐतिहासिक फैसला है और बाकी शराब बेचने वालों के लिए सबक साबित होगा। मुख्यमंत्री ने शराबबंदी को लोगों के हित मे लागू किया गया फैसला बताया है। नीतीश कुमार ने आगे बोलते हुए कहा कि शराबबंदी महिलाओं के माँग पर लागू किया गया फैसला है।

क्या है गोपालगंज शराबकांड- गोपालगंज के खजूरबानी में 15 – 16 अगस्त 2016 को जहरीले शराब का सेवन करने से 19 लोगों की मौत हो गई थी। जहरीले शराब को पीने से तकरीबन 1 दर्जन लोगों के आंखों की रौशनी भी चली गई थी। शराबकांड के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए भारी मात्रा में जहरीली शराब को बरामद किया गया था। इस मामले में 14 लोगों को आरोपी बनाया गया था। पूरा मामला सामने आने के बाद नगर थाने के सभी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया था। बाद में इन्हें नौकरी से बर्खास्त भी कर दिया गया था, लेकिन 4 फरवरी 2021 को पटना हाइकोर्ट ने इनके बर्खास्तगी के आदेश को रद्द कर दिया।

कोर्ट ने शुक्रवार को सुनाया फैसला- इसी मामले में सुनवाई करते हुए कोर्ट ने शुक्रवार को 13 में से 9 आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई है। 4 महिला आरोपियों को आजीवन कारावास का सजा सुनाया गया है। जबकि एक आरोपी की ट्रायल के दौरान ही मौत हो गई थी। शराबबंदी कानून आने के बाद पहली बार दोषियों को इस कानून के तहत इतना सख्त सजा सुनाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.