Bihar में अब बिना रजिस्‍ट्रेशन नहीं कर सकेंगे उद्योग-धंधा, जानें – सरकार का पूरा प्लान..

डेस्क : उद्योग विभाग के आकलन के अनुसार बिहार में 34 लाख लघु एवं मध्यम स्तर के उद्योग कार्यशील हैं। इनमें से 30.13 लाख उद्योग बगैर किसी निबंधन के काम कर रहे हैं। राज्य उद्योग विभाग ने अपने सभी जिला उद्योग केंद्रों को यह लक्ष्य दिया है कि जो उद्यम बगैर किसी निबंधन के चल रहे, उनका अभियान चलाकर निबंधन तुरन्त कराया जाए। पूरे बिहार में निबंधित MSME की वर्तमान संख्या वर्तमान में 3.86 लाख 711 है।

बिहार पटना जिले में बगैर निबंधन के चलने वाले उद्यमों की संख्या सबसे अधिक : राज्य उद्योग विभाग के एक आंकड़े के अनुसार पटना जिले में बगैर निबंधन के चलने वाले उद्योगों की संख्या सबसे ज्यादा है। पटना जिले में निबंधित उद्योग की संख्या 53466 है। राज्य उद्योग विभाग का आकलन यह है कि यहां 8, 29, 956 उद्योग बगैर निबंधन के चल रहे हैं। पटना जिले को यह लक्ष्य दिया गया है कि उन्हें 7,76,490 उद्योग का निबंधन करना है।

पटना के अलावा आधा दर्जन से अधिक जिले इस श्रेणी के हैं। इन जिलों में बिना निबंधित MSME की संख्या एक लाख से अधिक है। इन जिलों में MSME निबंधन पर अधिक जोर है। मुजफ्फरपुर जिले में निबंधित उद्यमों की संख्या 24243 ही है, जबकि राज्य उद्योग विभाग का यह आकलन है कि यहां 2.95 लाख 459 MSME कार्यशील हैं। इस जिले को 2.71 लाख उद्यमों के निबंधन का लक्ष्य प्रदान किया गया है। बेगूसराय जिले में निबंधित MSME केवल 9800 हैं, जबकि यहां 1.15 लाख 808 MSME काम कर रहे। इस जिले को 1.06 लाख उद्यमों के निबंधन का लक्ष्य प्रदान किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *