महंगाई का बड़ा झटका! अब किताब-पत्रिकाओं की कीमत में 30 फीसदी तक बढ़ेंगे दाम, जानें – क्या होगा नया रेट

डेस्क : विद्यालयों का नया सत्र भी नहीं शुरू हुआ, लेकिन किताबों की कीमतें 20 से 30 फीसदी तक बढ़ गयी है. CBSE सिलेबस की सभी विषयों की किताबों की कीमत पिछले 2 महीने में ही बढ़ गयी है. दुकानदार भी बढ़ती मांग के लिहाज से अब बढ़ी कीमतों पर ही किताबें मंगा रहे हैं. कागज की कीमतों में हुई अप्रत्याशित वृद्धि का असर अब किताबों पर भी पड़ा है. इन किताबों के पेपर की क्वालिटी भी पहले की अपेक्षाकृत खराब हो गयी है.

इसके अलावा छात्रों को दी जाने वाली छूट को भी समाप्त कर दी गयी है. दुकानदारों का कहना है कि पहले क्लास 2 की किताबों की कीमत करीब 2 हजार रुपये थी, जो अब बढ़ कर 2500 से 3000 रुपये तक हो गयी है. विभिन्न प्रकाशकों ने भी किताबों की कीमत में अपने हिसाब से इजाफा कर दिया है. इसका असर अगले सत्र में देखने को भी मिलेगा. किताबों के मद में अभिभावकों पर बढ़ते बजट का प्रभाव भी पड़ेगा.

पत्रिकाओं की कीमत में भी 20 प्रतिशत तक इजाफा : पत्रिकाओं की कीमत में भी 20 प्रतिशत का इजाफा हुआ है. प्रतियोगिता परीक्षाओं से संबंधित पत्रिकाओं की कीमत भी पिछले 1 महीने में बढ़ गयी है. करेंट अफेयर्स, एडुटेरिया, LUCENT सहित सामान्य ज्ञान की पत्रिकाओं की कीमत भी बढ़ने के साथ छात्रों को मिलने वाली छूट भी अब समाप्त कर दी गयी है. दुकानदारों का यह कहना है कि प्रतियोगिता परीक्षाओं से जुड़ी पत्रिकाओं की कीमतें बढ़ने से छात्रों पर आर्थिक बोझ बढ़ेगा. कई छात्र महीने में 4 से 5 पत्रिकाएं खरीदते हैं, उन्हें अब पहले की अपेक्षा अधिक धनराशि खर्च करनी पड़ेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *