बिहार में शराब पीने वालों की संख्या 10 लाख से पार, 55 हजार महिलाएं भी इसमें हैं शामिल

डेस्क : राज्य में लोग भोगवादी से उपभोग वादी बनते जा रहे हैं, बता दें कि इस वक्त बिहार में शराबबंदी सिर्फ कागजों पर रह गई है अगर आप कहीं भी शराब की मांग करते हैं तो वह आपको आसानी से उपलब्ध हो जाती है। बिहार में अप्रैल 2020 से सख्त कानूनी तौर पर शराबबंदी चल रही है लेकिन, पिछले वर्ष जितने लोग शराब पीते थे, उससे तीन गुना शराब पीने वालों की संख्या में इजाफा हो चुका है।

हाल ही में हुए सर्वे के मुताबिक राज्य में 10 लाख लोग ऐसे हैं जो शराब का सेवन कर रहे हैं लेकिन वही 10 लाख लोगों में से 55 हजार महिलाएं भी हैं, जो शराब पीने में रुचि रखते हैं दूसरी ओर होली आ रही है और होली के नजदीक आते ही शराब पीने वालों से ज्यादा भांग पीने वाले सड़क पर आ गए हैं। सर्वे के मुताबिक 11 लाख लोग ऐसे हैं जो भांग का सेवन करते हैं। इस वक्त राज्य में अफीम पीने वालों की भी कमी नहीं है और लेटेस्ट डाटा के मुताबिक अफीम पीने वाले लोग एक लाख के करीब हैं और अन्य नशे करने वाले 1 लाख तीस हजार लोग इस वक्त बिहार में विचरण कर रहे हैं।

यह जो डाटा निकल कर आया है वह गैर सरकारी संगठन तकनीकी फोरम अस्पताल पुलिस एवं अन्य ट्रस्ट के माध्यम से जारी किया गया है बता दें कि दिन पर दिन लोगों के ड्रेस की मांग बढ़ती जा रही है और इसके चलते सबसे ज्यादा प्रभाव में बच्चे आ रहे हैं वह अक्सर ही नशीली दवाओं का सेवन करते हुए जगह-जगह दिख जाते हैं। लेकिन, उन पर कोई मापदंड नहीं है और ना ही उनके ऊपर कोई ध्यान देता है। बता दें कि शराब इस वक्त एक ऐसी चीज है जो हर नागरिक की आम जरूरत के लिए इस्तेमाल करने लग गया है। दिन पर दिन नशीली दवाओं का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है और सरकार लगातार प्रयास कर रही है कि वह नशीली दवाओं का प्रयोग कम कर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.