घर में बिटिया के जन्म पर खुशी से झूम उठे पुरा परिवार – नन्ही परी को डोली में बिठाकर लाए घर..

डेस्क : कहते हैं कि हमारा समाज पुरूष प्रधान समाज हैं यह लड़को को लड़कियों की तुलना में हर जगह ओर वरीयता दी जाती हैं चाहे वो शिक्षा के क्षेत्र में हो या रोजगार के क्षेत्र में यह तक कि लड़का लड़की के जन्म पर भी लोग भेदभाव करते हैं बेटों के जन्मदिवस पर खुशी मनाने का चलन तो बहुत पुराना रहा है।

लेकिन बदलते जमाने के साथ साथ अब लोग बेटियों के जन्म पर भी जोर शोर से खुशी मनाने लगे हैं। ऐसा ही एक खूबसूरत नजारा देखने को मिला बिहार के छपरा में जहाँ 45 साल बाद खानदान में बिटिया का जन्म हुआ तो उसका स्वागत बेहद शानदार तरीके से किया गया। आपने आमतौर पर मां-बाप या फिर परिवार द्वारा बेटे के जन्म की कामना करने के बारे में देखा और सुना होगा।

और बेटी पैदा होने पर उसे मारने और बहू को प्रताड़ित करने की खबरें भी आपने पढ़ी होंगी, लेक‍िन आज आपको ऐसी तस्‍वीरें द‍िखाने जा रहा है जिसे देखकर आप भी कह उठेंगे ओह माई गॉड! जी हां! बिहार के छपरा जिले में एक परिवार में 45 साल बाद बेटी का जन्‍म हुआ तो उसे घर लाने के लिए डोली सजाई गई और बैंड-बाजों का इंतजाम किया गया क्योंकि इस परिवार में पिछले 45 साल से कोई बिटिया पैदा नही हुई थी

Leave a Reply

Your email address will not be published.