दिवाली के बाद पटना की हवा में घुला जहर, खतरे के स्तर पर पहुंचा वायु प्रदूषण

11
Patna Pollution

डेस्क : हाल ही में दिवाली बीते हुए 2 दिन हो चुके हैं। ऐसे में मुख्य राज्यों की राजधानी में प्रदूषण बढ़ा हुआ नजर आ रहा है। इतना ही नहीं पटना में तो प्रदूषण इतना ज्यादा बढ़ गया है कि बीते 5 सालों में कभी ऐसा देखने को नहीं मिला। राजधानी पटना में जमकर आतिशबाजी की गई, जिसके साथ ही कई जिलों का प्रदूषण स्तर बढ़ गया है।

यह जानकारी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और एनजीटी की एडवाइजरी के साथ ही सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद दी जा रही है, जहां पर सरकार की ओर से सभी कवायद विफल हो गई है, बता दें कि बीते 5 सालों में पटना वासियों को इतनी बुरी हवा का सामना कभी नहीं करना पड़ा जितना इस वक्त करना पड़ रहा है।

इस वक्त पटना में पुराने सभी आतिश बाजियों के रिकॉर्ड टूट गए हैं। हवा में धूल एवं प्रदूषण के कण बढ़ गए हैं। पहले हवा में 1134 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर प्रदूषण था लेकिन अब यह बढ़कर 1688 माइक्रोग्राम पहुंच गया है।

पटना और बिहार के मुख्य जिलों की हवा में सल्फर डाइऑक्साइड नाम का तत्व बढ़ गया है। ऐसे में नाइट्रोजन डाइऑक्साइड की मात्रा भी बढ़ती हुई नजर आ रही है, जिसके चलते वैज्ञानिकों ने सुझाया है कि यह हवा सभी पटना वासियों को परेशान कर सकती है। आने वाले समय में लोगों की सेहत पर भी इसका गहरा प्रभाव पड़ेगा।