बिहार के इन 5 शहरों में एक साथ होगा, रेल-रोड व जल जंक्शन का निर्माण, जानिए- क्या है पूरा प्लान?

न्यूज़ डेस्क: केंद्र सरकार अपने “गति से प्रगति थीम” के तहत यूपी, बिहार, झारखंड सहित पूर्वोत्तर क्षेत्र के विकास पर निरंतर कार्य कर रही है। इसी कड़ी में बिहार के ऐसे शहरों का चुनाव किया जा रहा है, जिस शहर में “मल्टी मोडल कनेक्टिविटी हब” का निर्माण किया जा सकें। इस में नदी यानी जल वाले स्थान, रेल व सड़क मार्ग ये तीनो एक दूसरे से कनेक्टेड हो जहां लॉजिस्टिक हेतु एक ही जगह पर जंक्शन विकसित हो पाए ऐसे शहर शामिल है। बिहार के विभिन्न शहरों में सड़क मार्ग रेल मार्ग और जलमार्ग कुछ ही दिनों में एक दूसरे से जुड़े दिखेंगे। इन सबके जुड़ाव से जल मार्ग से आने वाले माल को वहीं से रेल के द्वारा भारत के विभिन्न जगहों में पहुँचाया जा सकेगा।

मालूम हो कि राज्य सरकारों की ओर से “प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना” के अंतर्गत मल्टी मोडल कनेक्टिविटी हब के निर्माणा कार्य संबंधित प्रस्ताव मांगा गया है। बिहार में पटना, भागलपुर, हाजीपुर, कटिहार और बक्सर में मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी हब विकसित करना संभव है। इन जगहों पर संभावनाएं भी तलाशी जा रही हैं। इन स्थानों पर जलमार्ग, सड़क और रेलवे को एक ही स्थान पर आसानी से जोड़ा जा सकता है।

इनके आस-पास लॉजिस्टिक हब तैयार होने से स्थानीय स्तर पर औद्योगिक विकास भी होने की संभावना है। इस मल्टी मोडल कनेक्टिविटी हब को तैयार करने की योजना में कई राज्य जैसे बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, ओड़िशा और छत्तीसगढ़ शामिल हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार उद्योग विभाग ने इस नीति का मसौदा तैयार कर लिया है और इसे शीघ्र ही राज्य मंत्रिपरिषद की सहमति के लिए प्रस्तुत करने वाली है। ईस्टर्न फ्रेट कॉरिडोर समेत कई परियोजनाओं को रेलवे को राज्य के बुनियादी ढांचे से जोड़ना है, ताकि अर्थव्यवस्था को गति देने वाले तमाम कारकों को आपस में जोड़कर गति मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.