मिसाल! पिता के निधन के बाद श्राद्ध भोज न करके गांव में बनवा दिया सड़क पुल, लोगो ने कहा – बेटा हो तो ऐसा…

डेस्क : बिहार के मधुबनी जिले में एक व्यक्ति ने अपने पिता की मौत के बाद श्राद्ध भोज की जगह गांव में पुल बनवा दिया. बता दें कि पुल को बनवाने में पांच लाख रुपये खर्चा आया है. यह मामला कलुआही प्रखंड के नरार पंचायत के वार्ड नंबर 2 का है. बता दें कि गांव के लोगों को पुल न होने की वजह से काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था. इतना ही नहीं गांव के लोगों ने पुल बनवाने के लिए एडी चोटी का जोर लगाया था.

जैसा कि बारिश के दिनों में लोगों का गांव से बाहर निकलना मुश्किल हो जाता था. लोगों की इसी परेशानी को देखकर बुजुर्ग महादेव ने पुल बनवाने का सपना देखा था. लेकिन इस बीच उनका निधन हो गया पर बेटे ने उनकी इच्छा पूरी करने के लिए उनके श्राद्ध भोज के पैसों से पुल बनवा दिया. जानकारी के लिए बता दें कि महादेव के बेटे सुधीर झा ने बताया कि उनके पिता के निधन के बाद उन्हें लगा कि कर्मकांड में लाखों रुपये खर्च करने की जगह अगर वो गांव की सड़क पर पुल बनावा दें तो लोगों की परेशानी भी खत्म हो जाएगी और पिता का सपना भी पूरा हो जाएगा. 

सुधीर झा की मां ने बताया कि उनके पति एक शिक्षक थे. उनका निधन 2020 में हो गया था. उनकी इच्छी थी कि उनके श्राद्ध भोज पर खर्च की बयाज गांव में पुल बनाया जाए. अब उनकी इच्छा पूरी करते हुए बेटे ने पुल बनवा दिया है. गौरतलब है कि सुधीर झा के इस काम की तारीफ पूरे इलाके में हो रही है. लोगों का कहना है कि सुधीर ने समाज के अन्य लोगों के लिए एक नई सीख और मिसाल कायम की है. ग्रामीण गांव में पुल बन जाने से काफी खुश है. उनका कहना है कि बारिश के दिनों में लोगों को परेशानी होती है जो अब दूर हो गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.