Patna Airport पर फिर से बिछाया जायेगा रनवे – आइसोलेशन पार्किंग-बे का निर्माण शुरू..

डेस्क : पटना हवाईअड्डे पर यात्रियों की सुविधाओं में अब बढ़ोतरी की जा रही है. इसके मद्देनजर पटना हवाई अड्डे पर आइसोलेशन पार्किंग-बे का निर्माण भी शुरू हो गया है. यह DVOR से 100 मीटर की दूरी पर 4 एकड़ जमीन पर बन रहा है, जिसके बाउंड्रीवाल का निर्माण पूरा हो गया है.इसके पैरेलल टैक्सी ट्रैक का टेंडर भी जारी हो गया है, जो 6 सितंबर को खुलेगा. इन दोनों के निर्माण के बाद से रनवे को भी फिर से बिछाने का काम होगा. जिसमें 75 करोड़ रुपये खर्च होंगे.

अगले साल अगस्त तक पूरा होगा काम : टेंडर मिलने के 1 महीने बाद एजेंसी पैरेलल टैक्सी ट्रैक का भी निर्माण शुरू कर देगी. इस साल अक्तूबर के मध्य तक काम के शुरू होने की संभावना है और टेंडर की शर्तों के अनुसार इसको 9 महीने में पूरा कर लेना है. इस प्रकार अगले वर्ष जुलाई अगस्त तक इसका निर्माण कार्य पूरा हो जायेगा.

25.9 एकड़ जमीन पर बन रहा नयापैरेलल टैक्सी ट्रैक : पैरेलल टैक्सी ट्रैक का निर्माण पटना हवाईअड्डे के पश्चिमी सिरे पर रनवे के समानांतर ही 25.9 एकड़ जमीन पर होगा. इसके लिए ICAR की जमीन का भी एक हिस्सा लिया गया है. इसके बन जाने से रनवे पर लैंड होने के बाद एक से डेढ़ मिनट के अंदर ही विमान उसे छोड़कर पैरेलल टैक्सी ट्रैक पर पहुँच जाएगा. इससे हर दो-तीन मिनट पर पटना हवाईअड्डे से विमानों की लैंडिंग और टेक ऑफ प्रक्रिया हो पायेगी जिसमें अभी कम से कम 4 से 5 मिनट लगते हैं. नया एयरपोर्ट टर्मिनल बनने के बाद जब पटना एयरपोर्ट से परिचालित होने वाले विमानों की संख्या करीब 100 जोड़ी के आसपास पहुंच जायेगी, इस सुविधा की बहुत ज्यादा जरूरत पड़ेगी.

विस्फोट की स्तिथि पर होता है बचाव : बम थ्रेट वाले प्लेन को अन्य विमानों से अलग खड़ा कर जांच के लिए आइसोलेशन पार्किंग बे की सख्त जरूरत पड़ती है. इसे सामान्य पार्किंग बे से काफी दूर बनाया जाता है, ताकि विस्फोट होने की स्तिथि में अन्य विमानों के यात्री या टर्मिनल में बैठे लोग बिल्कुल प्रभावित न हों.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *