बिहार की धरती पर कदम रखेंगे क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर – जानें किसने बुलाया और क्यों ?

Sachin tendulkar bihar visit

डेस्क : भारतीय क्रिकेट के पूर्व और महान बल्लेबाज़ सचिन तेंदुलकर अब बिहार आने वाले हैं। वैसे तो सचिन तेंदुलकर के जानने वालों और प्रशंसकों की कमी नहीं हैं। बिहार में भी उनको चाहने वाले बहुत से क्रिकेट प्रेमी हैं। जब भी सचिन तेंदुलकर क्रिकेट खेलने के लिए मैदान में उतरते थे तो उनको चीयर करने वाला एक शख्स स्टेडियम में हमेशा मौजूद रहता था।

वह उनका बड़ा फैन था और वह उनका फैन आज भी है, उसका नाम सुधीर चौधरी है। सुधीर चौधरी को आपने अक्सर ही अपने शरीर पर तिरंगा झंडा बनवाए देखा होगा। वह अपने माथे पर सचिन का ही नाम लिखवा कर आते थे। बता दें की सुधीर कुमार बिहार के मुजफरपुर के निवासी हैं। साल 2007 के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के जितने भी मैच हुए हैं उनमें सभी जगह सुधीर चौधरी पहुंचे हैं।

सुधीर चौधरी ने देश की और विदेश की ज़मीन पर सचिन का 100 प्रतिशत समर्थन किया है। जब वह मात्र 6 वर्ष के थे, तब उन्होंने क्रिकेट पहली बार देखा था और तब से वह सचिन तेंदुलकर के दीवाने बन गए थे। उन्होंने क्रिकेट के लगाव के चलते पढ़ाई भी छोड़ दी थी, तब उनकी उम्र मात्र 14 वर्ष ही थी जिसके चलते उनको मिल्क इंडस्ट्री में काम करना पड़ा था। सुधीर की घर में नहीं बनती थी क्यूंकि उन्होंने पूरे जीवन टीम इंडिया को सपोर्ट करने का निश्चय कर लिया था। उनके माता पिता भी उनसे काफी परेशान थे। वह हमेशा से ही भारत के सभी क्रिकेट मैच देखते आ रहे हैं। उन्होंने जिस दिन भारत का कोई मैच नहीं देखा होता था, उस दिन उनको मरने जैसा लगता था। एक बार तो उन्होंने अपने आपको आत्मदाह की भी धमकी दे दी थी।

सुधीर के इस शौक के चलते कई बार उन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। 2010 में एक सीनियर पुलिस अफसर ने मैदान से सुधीर को उठाकर जेल में डाल दिया था तब खुद सचिन तेंदुलकर उनको छुड़ाने के लिए आए थे। इसके बाद बांग्लादेश के साथ भारत की सीरीज़ में उनके ऊपर कुछ बांग्लादेशियों ने जान लेवा हमला कर दिया था जिसमें वह बाल बाल बचे थे। ऐसे में BCCI द्वारा सुधीर को स्पॉन्सर्ड भी किया गया है।

वर्ल्डकप जीतने पर सचिन ने उनके हाथ में वर्ल्डकप ट्रॉफी भी दी थी। उस वक्त सुधीर और सचिन ने मिलकर जीत की ख़ुशी मनाई और इंडिया के नारे लगाए। सुधीर कुमार ने अब फैसला किया है की वह सचिन तेंदुलकर के नाम का एक मंदिर बनवाएंगे। इस बात पर दम भरते हुए सुधीर ने कहा की जब अमिताभ बच्चन और रजनीकांत के मंदिर बन सकते हैं तो क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर का मंदिर क्यों नहीं बन सकता।

सुधीर का कहना है की मैं खुद चाहता हूँ की जब यह मंदिर बनकर तैयार हो तो इसका उद्घाटन सचिन तेंदुलकर द्वारा किया जाए। ऐसे में जितने भी क्रिकेट प्रेमी हैं वह सचिन तेंदुलकर के बिहार आने का इंतज़ार कर रहे हैं। फिलहाल सुधीर पैसे जोड़ने के काम में लगें हैं, अब जैसे ही पैसा जमा हो जाएगा वैसे ही निर्माण कार्य भी शुरू हो जाएगा। फिलहाल कोरोना के इस खतरनाक काल में टीम इंडिया का मनोबल बढ़ाने वह विदेश नहीं जा पा रहे हैं। वह अपने घर पर अपने मित्रों के साथ ही क्रिकेट का लुत्फ़ उठा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *