करोड़पति शिक्षक : ₹3500 की सैलरी वाले संविदा टीचर निकला 27 कॉलेजों समेत करोड़ों की संपत्ति का मालिक..

12
crorepati shikshak of bihar

डेस्क : ग्वालियर में संविदा शिक्षक के तौर पर 3500 रुपये महीने में काम करने वाले प्रशांत सिंह परमार महज 15 साल में 27 कॉलेजों के मालिक बन गए। शनिवार को जब EOW ने प्रशांत के एक दर्जन से अधिक ठिकानों पर छापेमारी की तो चौंकाने वाले खुलासे हुए।

crorepati teacher

मूल रूप से राजस्थान के रहने वाले प्रशांत ने वर्ष 2006 में संविदा शिक्षक के रूप में अपनी नौकरी शुरू की थी। EOW की जांच में प्रशांत के पास 27 कॉलेज, 4 कार्यालय, 2 मकान, जमीन, बैंक खाते और लॉकर के दस्तावेज मिले हैं। आपको बता दें, ग्वालियर में EOW को बड़ी कामयाबी तब मिली जब उसने संविदा शिक्षक प्रशांत परमार पर छापा मारा। आय से अधिक संपत्ति की एक गोपनीय शिकायत की जांच के बाद, EOW ने प्रशांत के सत्यम टॉवर स्थित घर के साथ-साथ कई स्थानों पर छापेमारी की। इस छापेमारी में कई अहम दस्तावेज ईओडब्ल्यू के हाथ में हैं।

crorepati teacher caught

झारखंड तक फैला नेटवर्क : प्रशांत मूल रूप से राजस्थान के बारी का रहने वाला है। इसका नेटवर्क झारखंड तक फैला हुआ पाया गया है। इस कार्रवाई के बीच EOW को प्रशांत के ठिकानों से कई सरकारी कार्यालयों और अधिकारियों की मुहर मिली है. ऐसे में संभव है कि आरोपी सहायक शिक्षक प्रशांत परमार उन फर्जी स्टांप सील के जरिए यह काला खेल चला रहे हों.

विधानसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहा था : फिलहाल EOW की कार्यवाही चल रही है। अधिकारियों के मुताबिक गहन जांच के बाद 10 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति का खुलासा हो सकता है. जांच के दौरान यह भी पता चला है कि प्रशांत अगले साल राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे थे, जिसके लिए उन्होंने पहले भी राजस्थान के बारी इलाके में कई कार्यक्रम आयोजित करवा चूके थे.