सफाई कर्मचारी से सीधा बनी SDM, पति ने छोड़ दिया था 8 साल पहले साथ – 2 बच्चों को पालते हुए की तैयारी

Asha kandla RAS officer Rajasthan

डेस्क : यदि इंसान सच्चे मन से मेहनत करे तो एक न एक दिन उसे सफलता जरूर मिलती है। ऐसे में इस तरह की सफलता को बयां कर पाना काफी मुश्किल होता है क्योंकि एक अभ्यर्थी दिन-रात पढ़ाई करके मेहनत करता है। यह सुनने में अविश्वसनीय जरूर है लेकिन सच है।

बता दें कि कुछ ऐसा ही कारनामा राजस्थान की रहने वाली आशा कंडारा ने करके दिखाया है वह नगर निगम में सफाई कर्मचारी का कार्य करती थी लेकिन अब RAS 2018 की परीक्षा देकर अफसर के पद पर पहुंच गई है। राजस्थान एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस में आशा कंडारा को अफसर बनने का मौका दिया है बता दें कि उन्होंने 2018 में आयोजित की गई राजस्थान प्रशासनिक परीक्षा दी थी। हाल ही में उसका परिणाम घोषित किया गया है।

आशा कंडारा के लिए यह सब बिल्कुल भी आसान नहीं था क्योंकि शादी के 8 साल बाद उनके पति ने उनको तलाक दे दिया था। उनके दो बच्चों की जिम्मेदारी भी आशा के कन्धों पर आ गई थी, जिसके चलते उन्होंने नौकरी करते हुए पढ़ाई की और अपने बच्चों को भी संभाला। उन्होंने नौकरी के साथ साथ SSC की परीक्षा 2016 में देना शुरू कर दी थी और लगातार कई सरकारी नौकरी के फॉर्म भरना चालू कर दिए थे। जब उनकी नगर निगम में नौकरी लगी तो वह नौकरी पक्की नहीं थी। ऐसे में उनको पक्की नौकरी के लिए एक लंबा संघर्ष करना पड़ा। जब उनकी नौकरी पक्की हो गई थी तो 12 दिन बाद ही प्रशासनिक सेवा का रिजल्ट घोषित हुआ, जिसमें वह एसडीएम चुनी गई है।

उनके लिए नौकरी के साथ-साथ पढ़ाई करना बहुत मुश्किल था। ऐसे में वह किताबों को अपने पास ही रखती थी और जैसे ही उन्हें टाइम मिलता था वह पढ़ने लग जाती थी उनकी 8 घंटे की शिफ्ट होती थी। वह लंच में पढ़ा करती थी और छुट्टी होने के बाद भी परीक्षा की तैयारी करती थी। जब घर का सारा कार्य पूरा हो जाता था तो वह रात में पढ़ा करती थी। अन्य लोगों के साथ ऐसा नहीं होता, जब उन्हें नगर निगम की नौकरी मिल जाती है तो वह तैयारी करने के बारे में नहीं सोचती, लेकिन आशा कंडारा के बारे में कुछ अलग बात है क्योंकि वह एसडीएम बनने के बाद भी आईएस की तैयारी करना चाहती हैं और वह अपनी पढ़ाई को आगे भी जारी रखना चाहती हैं। ऐसे में आशा कंडारा उन सभी लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत बनी हुई हुए हैं जो इस वक्त घर पर बैठकर मुफ्त की रोटी तोड़ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *