डॉक्टर बनकर गरीब लोगों की सेवा करना चाहती हैं, मैट्रिक की स्टेट टॉपर शुभदर्शिनी

Shubradarshini

डेस्क : बिहार में 12वीं कक्षा के नतीजे घोषित होने के कुछ दिन बाद ही दसवीं के नतीजे भी घोषित हो गए हैं। ऐसे में बिहार की लड़कियों ने फिर से सूबे में टॉप किया है और अपने घर परिवार का नाम रोशन किया है। बता दें कि इस बार नालंदा जिले के बच्चों ने परीक्षाओं में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया और जमकर परीक्षा देते हुए अपनी प्रतिभा का परचम लहराया।

एकंगसराय प्रखंड के कोरथु गांव में रहने वाले ओम प्रकाश निराला और नीलम कुमारी की बेटी सुभदर्शनी ने 484 अंक लाकर प्रथम स्थान प्राप्त करा है। सुभदर्शनी आगे चलकर डॉक्टर बनना चाहती हैं और लोगों की सेवा करना चाहते हैं। वह सिमुलतला स्कूल में पढ़ाई करती हैं। साथ ही अपने परिवार में भी अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान देकर पूरी जिम्मेदारी निभाती है। सुभदर्शिनी के पिताजी चमरबिगहा मध्य विद्यालय में हेड मास्टर है और उनकी माताजी एक ग्रहणी के रूप में अपना योगदान दे रही है।

सुभदर्शनी का एक बड़ा भाई है, जो इंटर की परीक्षा में टॉप किया है और वह छठे स्थान पर रहा है। सुभदर्शनी के घर वाले कहते हैं कि वह बचपन से ही पढ़ाई में अव्वल रही है। उसकी पढ़ाई एकंगसराय में ही पूरी हुई है। वह कहती हैं कि जब भी वह पढ़ती थी तो उनके मां-बाप पूरा साथ देते थे और हमेशा घर में एक पढाई का माहौल बनाकर रखते थे। साथ ही वह इसका सारा श्रेय बड़े बुजुर्गों के आशीर्वाद को देती हैं। वह अपने इंटरव्यू में बताती है कि आगे चलकर कड़ी मेहनत कर एक सफल डॉक्टर बनना चाहती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

UPSC टॉपर शुभम की कहानी, 6 साल की उम्र में घर छोड़ा, 12वीं में देखा था IAS बनने का सपना मिलिए जागृति से,जानिए कैसे बनीं वो UPSC के महिला वर्ग में देशभर की टॉपर Divya Aggarwal ने जीता BigBossOTT-जानें ट्रॉफी के साथ कितना मिला कैश ? Jio अब बजट रेंज में लॉन्च करेगा लैपटॉप, ये होंगे कीमत और Features Airtel vs Vi vs Jio : जानें 600 रुपये से कम वाला किसका रिचार्ज प्‍लान सबसे बेस्‍ट