सावधान : बिहार में जहरीली शराब से 8 की मौत और दर्जनों अपंग – चुनाव और होली पर बढ़ सकती है बिक्री

डेस्क : बिहार में शराब बंद है। शराबबंदी के चलते बिहार का नाम अब देश में ही नहीं बल्कि देश के बाहर बैठे भारतीय मूल के लोगों को भी पता है। भारतीय मूल के निवासी अगर बिहार में आते हैं तो उनको पीने को शराब नहीं मिलेगी। लेकिन, असल बात क्या है यह तो बिहार आकर ही पता लगेगी ? बता दें कि बीते कई महीनों से एक के बाद एक शराब की खेप और शराब माफियाओं को पकड़ा जा रहा है।

यह सिलसिला अभी खत्म नहीं हुआ है, आए दिन कोई ना कोई ऐसा व्यक्ति पुलिस के हत्थे चढ़ जाता है, जो शराब के धंधे में लिप्त है। ऐसे में सोचने वाली बात यह है कि अगर लोगों के अलावा पुलिस भी इस कार्य में लिप्त हो जाती है तो क्या होगा ? वैसे आम चुनाव से पहले लोगो के बीच शराब का बिकना आम बात है। बिहार के कटरा और मन‍ियारी थाना क्षेत्र में जहरीली शराब बेची गई है और 8 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। कुछ लोग अपंग भी हो गए हैं। शराब बेचने का धंधा इस वक्त परवान चढ़ा हुआ है क्योंकि लोग शराब की भट्टियों में स्प्रिंट का इस्तेमाल करके शराब बना रहे हैं। ऐसे में जहरीली शराब का बनना लाजमी है और शराब को बाहर भेजा जा रहा है।

जब भी कड़ी कार्यवाही पुलिस के द्वारा की जाती है तो अक्सर ही वर्दी वाला व्यक्ति पकड़ा जाता है और वर्दी पर दाग लगने की वजह से आला अधिकारियों के माथे पर शिकन आ जाती है। अब चुनाव भी नजदीक है और होली भी नजदीक है यह दोनों त्यौहार आस पास ही होने जा रहे हैं और ऐसे में मिलावटी शराब का खेल जोर-शोर पर शुरू हो गया है अब जिम्मेदारी किस पर है ? इस बात का अंदाजा किसी को नहीं है ? बीते शुक्रवार को मनियारी में तीन मौतें हो चुकी हैं और कटरा में पाँच मौत से परिवार परेशान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.