इस हनुमान जयंती पर बन रहा है ख़ास संयोग, 27 अप्रैल को यह कार्य कर लेने से चमक सकती है आपकी किस्मत

Bajrang bali

डेस्क : हनुमान जी का जन्म चैत्र माह के शुक्ल पक्ष में हुआ था। वह सबसे बड़े विद्वान, ज्ञानी और राम भक्त थे। राम की सेवा करने को ही अपना धर्म समझते थे। वह निरंतर राम नाम जपा करते थे। प्रति वर्ष चैत्र माह के शुक्ल पक्ष के दिन ही हनुमान जयंती मनाई जाती है। इस साल हनुमान जयंती 27 अप्रैल 2021 को पड़ रही है। बजरंग बली के आशीर्वाद से धरती पर मौजूद हर इंसान का डर ख़त्म हो जाता है। बजरंग बली की विशेष पूजा अर्चना की जाए तो वह जरूर सफल होती है।

हनुमान जयंती बेहद ही शुभ मानी जाती है। ऐसे में इस बार की हनुमान जयंती पर अनेकों योग बन रहे हैं जिसमें सिद्धि योग व्यक्तिपाच योग बन रहा है। बता दें कि सिद्धि योग शाम 8:03 तक रहेगा और जैसे ही सिद्धि योग खत्म होगा तो व्यक्तिपात योग लग जाएगा। जो भी हनुमान जी की पूजा सच्चे मन से करता है उसके सभी प्रकार के कष्ट एवं दुख हनुमान जी स्वयं हर लेते हैं। अगर आप नीचे बताए गए उपाय के साथ-साथ हनुमान जी की उपासना करेंगे तो हनुमान जी बहुत खुश हो जाएंगे और इससे आपको आपके मन के अनुसार चीजें उपलब्ध करवाएंगे।

आपको हनुमान चालीसा पढ़ना है। हनुमान चालीसा को दिन में 11 बार पढ़ना है क्योंकि विद्वान पंडितों के अनुसार 11 बार हनुमान चालीसा पढ़ने से हनुमान जी प्रसन्न होते हैं। ऐसे में जीवन की मुक्ति को भी तभी प्राप्त किया जा सकता है जब हनुमान जी प्रसन्न हो। अगर आप हनुमान जी पर फूलों की माला चढ़ाते हैं तो हनुमान जी आप पर प्रसन्न हो जाएंगे और आपकी सारी इच्छा पूर्ण कर देंगे। ऐसे में आप जो कुछ भी पाना चाहते हैं, वह आपको मिल जाएगा। एक और तरीका है जिससे हनुमान जी बहुत प्रसन्न हो जाते हैं। इस उपाय में आपको पीपल के पत्ते लेने होते हैं पीपल के पत्तों की 11 संख्या ले लीजिए और उसमें राम का नाम सिंदूर से लिख दीजिए। साथ ही सिंदूर में चमेली का तेल मिला कर लेप तैयार कर लीजिए। जब आप ऐसा करेंगे तो इन पत्तों को हनुमान जी के चरणों में अर्पित कर दें।

इस तरह के कार्य करने से सभी धन से जुड़ी इच्छाएं पूरी हो जाती हैं। पान का पत्ता काफी उपयोगी होता है अगर आपके घर में छोटी बात पर वाद विवाद हो जाता है तो आप पान के पत्ते से अपनी सारी समस्या दूर कर सकते हैं। पान के पत्ते में गुलकंद, बादाम, बूरा डालना ना भूलें। अगर आप भी अपने जीवन को लाभकारी बनाना चाहते हैं तो सुंदरकांड का पाठ नित्य पढ़ें। सुंदरकांड का पाठ पढ़ने से एवं हनुमान जी का नाम लेने से सारे प्रकार के शारीरिक कष्ट के साथ साथ सभी दुःख भी दूर हो जाते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *