जल्द ही लोगों को दी जाएगी स्पुतनिक-V वैक्सीन, पोलियो अभियान की तरह पहुंचेगा स्वास्थ्य विभाग का दस्ता

डेस्क : भारत सरकार ने बीते दिनों में वैक्सीन की प्रक्रिया को और ज्यादा मजबूत बना दिया है। वैक्सीन को युद्धस्तर पर हर एक व्यक्ति को लगवाया जा रहा है, बता दें की ग्रामीण स्तर के कई लोग टीकाकरण के लिए राजी हो गए हैं। इस बार कोरोना की लहर ने बीते वर्ष से कई गुना ज्यादा लोगों को नुकसान पहुंचाया है। देश में अब NTAGI की सलाह पर स्पुतनिक-V भी लोगों को लगना शुरू हो जाएगी बता दें की यह वैक्सीन रूस द्वारा शुरू की गई है। इस वक्त भारत में स्पुतनिक-V सिर्फ और सिर्फ प्राइवेट अस्पतालों में ही उपलब्ध है।

स्पूतनिक-V एक ऐसी वैक्सीन है जिसको -20 डिग्री सेल्सियस पर रखी जाती है, यह वही तापमान है जिस पर पोलियो की दवा को नियमित रूप से रखा जाता है। यह वैक्सीन कोल्ड चेन स्टोरेज के तहत रखी जाएगी, जिसका सीधा मतलब है की अब यह ज्यादा से ज्यादा लोगों को लग सकेगी। फिलहाल भारत में कोवैक्सिन और कोविशील्ड इस्तेमाल की जा रही है। दोनों वैक्सीन के किसी भी प्रकार के कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं हैं।

भारत में कई ऐसे लोग हो जो इंटरनेट चलाना नहीं जानते हैं। ऐसे में अब जो लोग इंटरनेट चलाना नहीं जानते हैं वह भी कोवाक्सिन और कोविशिल्ड को बिना कोविन पोर्टल पर रजिस्टर किए लगवा सकते हैं। लोगों को सिर्फ वैक्सीनेशन सेंटर पर जाना होगा और वहीं से टोकन प्राप्त कर या फिर अपना नंबर लगवा कर वैक्सीन लगवानी होगी। बता दें की फ्लाइट पकड़ने से लेकर कई जगह पर अब वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट अनिवार्य हो गया है। अब भारत में 34 करोड़ से ऊपर के लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। सरकार ने दावा किया है की साल के अंत तक 50 करोड़ के ऊपर लोगों को वैक्सीन लग जाएगी। बता दें की वैक्सीन डेल्टा+ वैरिएंट पर भी कारगर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.