बिहार के दरभंगा में बनेगा राज्य का दूसरा AIIMS, 750 बेड वाले इस अस्पताल में रोजाना होगा इतने मरीजों का इलाज

10
AIIMS DARBHANGA

डेस्क: बिहार के मिथिलांचल जिला वासियों के लिए एक खुशखबरी सामने आई है, अब क्षेत्रवासियों को अच्छे इलाज के लिए राजधानी पटना नहीं जाना पड़ेगा, क्योंकि राज्य का दूसरा एम्स दरभंगा में बनने जा रहा है। क्योंकि हाल ही में सीएम नीतीश कुमार ने इस एम्स को लेकर बड़ा ऐलान किया था। जिसमें राज्य सरकार की कैबिनेट ने दरभंगा एम्स के लिए जमीन ट्रांसफर करने को मंजूरी दे दी।

मिथिलांचल का गौरव होगा दरभंगा एम्स:जानकारी के लिए आपको बता दे की बिहार सरकार ने दरभंगा एम्स के लिए केंद्र को 200 एकड़ से ज्यादा जमीन हस्तांतरित कर दी, दरभंगा में डीएमसीएच के अलावा यह एक बड़ा अस्पताल होगा, जो पूरे उत्तर बिहार के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराने में सक्षम होगा, इस अस्पताल का निर्माण पूरा हो जाने के बाद ओपीडी (OPD) में एक दिन में 2500 मरीजों का इलाज हो सकेगा, साथ ही यहां 100 सीटों पर एमबीबीएस (MBBS) और 60 सीटों पर बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई भी हो सकेगी।

इन जिला वासियों को सीधा फायदा होगा:बता दे की दरभंगा एम्स के निर्माण होने के बाद आसपास के मधुबनी, समस्तीपुर, बेगूसराय, सीतामढ़ी जैसे जिलों के साथ-साथ पड़ोसी देश नेपाल के लोगों को भी सुविधा होगी। उन्हें इलाज के लिए पटना, दिल्ली या देश के अन्य शहरों में नहीं जाना पड़ेगा। दरभंगा में डीएमसीएच के साथ-साथ एम्स भी होगा, जहां विश्वस्तरीय चिकित्सा सुविधाएं मिलेंगी। दरभंगा एम्स बिहार का दूसरा और देश का 22वां एम्स होगा।इससे पहले राजधानी पटना के फुलवारीशरीफ में AIIMS का निर्माण हो चुका है।

बिहार सरकार के मंत्री ने बताया:वही बिहार सरकार के मंत्री संजय कुमार झा ने कहा की सीएम नीतीश कुमार की सरकार ने बिहारवासियों को ‘दिवाली गिफ्ट’ दी है, इसके तहत ही दरभंगा एम्स के लिए केंद्र सरकार को 200 एकड़ जमीन हस्तांतरण की प्रक्रिया को मंजूरी दी गई है। इस अत्याधुनिक सुविधाओं वाले अस्पताल के निर्माण की लागत करीब 1264 करोड़ रुपए होगी, दरभंगा एम्स में 750 बेड होंगे, जहां कठिन से कठिन बीमारियों का इलाज हो सकेगा।