वाराणसी-हावड़ा-कोलकाता बुलेट ट्रेन का सर्वे रफ्तार में, बिहार के इन बड़े शहरों तक पहुंचेगी बुलेट ट्रेन

15
Bullet Train

डेस्क : बिहार के लोगों ने बुलेट ट्रेन का सपना देखा था, अतिशीर्घ ही पूरा होने की संभावना है। मेट्रो हेतु सर्वे कार्य वाराणसी-हावड़ा के लिए आरम्भ हो चुका है। बात करें बिहार की तो यहां जो सर्वे करेगी वो कंपनी अभी पड़ोसी राज्य झारखंड के गिरिडीह जिले में अपना काम में लगी हुई हैं। मालूम हो कि गिरिडीह के बगोदर से होते हुए बुलेट ट्रेन को ले जाने की योजना बनाई गई है।

यह 760 किलोमीटर लंबी रेल लाइन बिहार में पटना और झारखंड में धनबाद साथ ही बंगाल में बर्दवान से होकर निकलेगी। बतादें कि वाराणसी से दिल्ली के बीच बनने वाली बुलेट ट्रेन नेटवर्क का कार्य पहले ही रफ्तार में है। निर्माणाधीन इन रूटों का कार्य सम्पन होने के बाद दिल्‍ली से हावड़ा तक की यात्रा कुछ ही समय में संभव हो पायेगा। इस रूट का अंतिम संरेखण फिलहाल तय नहीं हुआ है। सर्वे किया जा रहा है इन रूटों में बक्सर, पटना, आरा, बिहारशरीफ और नवादा में स्टेशन बनाए जाने की संभावना है।

सामाजिक प्रभाव और पुनर्वास पर किये जाने वाले खर्च का आकलन होगा

वाराणसी-हावड़ा मेट्रो नेटवर्क हेतु सामाजिक प्रभाव व पुनर्वास पर किये जाने वाले सारे खर्च से जुड़े सर्वे का कार्य टीला कंसल्टेंट्स एंड कॉन्ट्रैक्टर्स प्राइवेट लिमिटेड और मोनार्क सर्वेयर्स एंड इंजीनियरिंग कंसल्टेंट्स प्राइवेट लिमिटेड के संघ को सौंपा गया है। नेशनल हाइ स्‍पीड रेल कारपोरेशन लिमिटेड इस योजना के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट बनाने में लगी हुई है।

पटना के व्‍यवसायियों की ओर से की गई थी मांग

राजधानी पटना के व्‍यवसायियों की ओर से पीएम नरेंद्र मोदी से दिल्‍ली-वाराणसी बुलेट ट्रेन योजना को ही पटना तक विस्‍तार करने जैसी सराहनीय मांग की गई थी। बतादें इस योजना का कार्य पहले सम्पन होने की उम्‍मीद जताई जा रही है। बिहार चैंबर आफ कामर्स की माने तो इस तेजगति वाले बुलेट ट्रेन से पटना को शीग्रह जोड़ने का लाभ बहुतों को होगा। साथ ही इसके परिचालन से बिहार में वाणिज्यिक गतिविधियों को काफी बढ़ावा मिलेगा।