अपने 4 वर्ष के बेटे को सँभालते हुए रोजाना सुबह 4 बजे उठकर क्लियर की UPSC परीक्षा-बुलंद हौंसले के आगे सब चित्त

डेस्क : UPSC की तैयारी करने वालों की भारत में कमी नहीं है, इसका जीता जागता उदाहरण हमें बड़े शहरों में तैयारी करने वाले बच्चों की भीड़ को देखकर लगाया जा सकता है। तैयारी करने वालों का काफिला कुछ इस प्रकार का होता है की जब वह घर से अपने इंस्टिट्यूट के लिए निकलते हैं तो अनेकों गाड़ियों की भीड़ लग जाती है ट्रैफिक के तौर पर। लोग काफी परेशान हो जाते हैं लेकिन बच्चों के हौंसलों के आगे किसकी चलती है ? वहीं दूसरी ओर कुछ लोग ऐसे हैं जिनको तैयारी करने की छूठ नहीं मिलती।

anu kumari 3

लेकिन बिना तैयारी के भी कई लोग अपना सपना पूरा करने में कामयाब हो जाते हैं। आज हम बात करने वाले हैं हरियाणा की अनु कुमारी के बारे में जिन्होंने अपनी 31 वर्ष की उम्र में सिविल सेवा परीक्षा को दूसरी बार में क्लियर किया। बता दें की वह हरियाणा से आती हैं और वहां पर जल्दी शादी करने का प्रचलन है जिसके चलते उन्होंने अपने 4 साल के बेटे को भी पाला और तैयारी की, उनका कहना है की जहाँ पर वह रहती हैं वहां पर न्यूज़ पेपर भी नहीं आता है इसलिए ऑनलाइन मटेरियल जितना भी था वह जमा कर सकती थी उतना वह जरूर करती थी। साल 2017 की परीक्षा में उनको दूसरी रैंक प्राप्त हुई थी।

anu kumari 2

अनु कुमारी का शुरू से यही मानना है की जिस भी चीज़ को दिल से चाहो वह अवश्य पूरी हो जाती है क्यूंकि उनके साथ ऐसा ही हुआ है। अनु कुमारी की स्नातक दिल्ली यूनिवर्सिटी से पूरी हुई है, उनका फिजिक्स स्नातक विषय रहा इसके बाद उन्होंने एमबीए भी किया बता दें की UPSC की परीक्षा में अक्सर ही अनेकों छात्र बैठते हैं जो दिन रात एक करके मेहनत कर रहे हैं। अनु कुमारी के ससुराल वालो ने खूब साथ दिया और वह अपने सभी घर वालो की प्रशंसा करते नहीं थकती हैं। वह बताती हैं की कॉलेज के दिनों में ट्रेन से अक्सर सफर किया करती थी, परेशानी काफी होती थी लेकिन पढाई तो पूरी करनी ही थी। उन्होंने जब एमबीए की पढ़ाई पूरी की तो उनको ICICI में नौकरी मिली। अनु कुमारी शुरू से ही पढाई में काफी तेज रही हैं जिसके चलते उनका UPSC का पहला एटेम्पट मात्र एक नंबर की वजह से रह गया।

anu kumari 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *