राजद राष्ट्रिय अध्यक्ष बनने की होड़ में लड़ पड़े भाई-भाई, तेज प्रताप बोले लालू यादव को दिल्ली में बंधक बनकर रखा है

डेस्क : बिहार की राजनीति में इस वक्त बड़ी उथल-पुथल देखने को मिल रही है, बता दें कि लालू के बेटे तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव में बड़ी बहस हो गई है। ऐसे में दोनों भाई एक दूसरे पर आरोप लगाते नजर आ रहे हैं। इशारों ही इशारों में दोनों ने एक दूसरे के खिलाफ बिगुल फूंक दिया है। बता दें कि आरजेडी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने का सपना देखने वाले दोनों बेटे इस वक्त एक दूसरे से ही उलझ गए हैं। फिलहाल के लिए लालू यादव जेल से बाहर है। ऐसे में वह दिल्ली में रह रहे हैं। उन्होंने अपने जीवन का एक लंबा समय जेल में बिताया है लेकिन बीते कुछ दिनों से उन्हें पटना आने नहीं दिया जा रहा है, जिसको लेकर अब उनके बेटे आपस में ही लड़ने लगे हैं।

हाल ही में तेज प्रताप यादव पटना में आयोजित की गई छात्र जनशक्ति परिषद की बैठक में शामिल हुए थे। इस बैठक में उन्होंने कहा कि रोजाना हर आम जनता से उसका मालिक मिलता है, उनसे बातें करता है और उनकी समस्या का समाधान देता है लेकिन कुछ लोग ऐसे हैं जो इस काम को करने से रोकते हैं, वह मालिक को लोगों से नहीं मिलने देते और रस्सी घेर कर खड़े हो जाते हैं। हमेशा ही उन्होंने अपने भाषण में अपने भाई तेजस्वी यादव को आगे रखा है वह ज्यादातर लोगों के आगे यह कहते नजर आए हैं कि मैं खुद मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहता हूं लेकिन मैं अपने भाई को मुख्यमंत्री बनाना चाहता हूं। ऐसे में मैं उसका कृष्ण हूं और वह मेरा अर्जुन है।

लेकिन अब दोनों की बातों से यह साफ झलक रहा है कि दोनों में आपसी फूट पड़ गई है। फिलहाल के लिए लालू यादव दिल्ली में निशा यादव के घर पर रह रहे हैं। वहां पर उनकी सही से देख रहे हो रही है। पूरे बिहार की जानकारी उनको निशा यादव के आवास पर मिल रही है। तेज प्रताप यादव का कहना है कि पिताजी को पटना एक साजिश के तहत नहीं लाया जा रहा है। उन्हें दिल्ली में ही रोक दिया गया है, लेकिन सूत्रों के मुताबिक पता चला है कि दिल्ली में वह अपना स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। तेजस्वी यादव भी उनसे मिल कर आए हैं और राबड़ी देवी भी वहीं मौजूद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.