अंधेरी रातों में..सुनसान राहों पर..मसीहा बन निकले Tejasvi Yadav, PMCH में मच गयी खलबली

बिहार के उप मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव मंगलवार को देर रात ब्लू टी शर्ट में सिर पर टोपी लगाए बिहार के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में औचक निरीक्षण करने लिए पहुंचे। वहां मरीजों के परिजनों ने उनसे शिकायत की जहां उन लोगो ने कहा ज्यादातर दवाएं बाहर से लानी पड़ रही है। सफाई व्यवस्था को लेकर भी मरीजों के परिजनों ने तेजस्वी को शिकायत की है। नई सरकार के गठन होने के बाद वह पहली बार पीएमसीएच का हाल जानने पहुंचे थे।

हेल्थ मैनेजर रात के समय क्यों नहीं रहते हैं ? तेजस्वी ने कहा कि बिहार राज्य के सभी cs और सभी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल की बैठक उन्होंने बुलाई है। इसलिए उसके पहले पीएमसीएच का हाल का हाल देखने पहुंचे। तेजस्वी ने कहा कि हेल्थ मैनेजर ने एक नर्स को एडमिनिस्ट्रेशन का कंट्रोल देखने को दिया है।

यह मजाक है क्या। तेजस्वी ने पूछा कि हेल्थ मैनेजर रात के समय आखिर क्यों नहीं रहते हैं ? सफाई के लिए सुपरवाइजर को तेजस्वी ने बुलवाया है। टाटा वार्ड के पीजी डॉक्टरों से उन्होंने बातचीत भी की है। उन्होंने पीएमसीएच प्रशासन की और डॉक्टरों की खूब क्लास लगाई है। उन्होंने कहा कि कुत्ता वार्ड में घुसा है और उसे कोई स्टाफ बाहर भी नहीं कर रहा है, सभी ड्रग, आउटसोर्स, नर्सों आदि के बारे में पूरी रिपोर्ट मांगी है।साथ ही तेजस्वी ने सख्त कार्रवाई करने का निर्देश भी दिया है।

बाथरुम इतना गंदा की बाहर जाना पड़ता है : पीएमसीएच में सीनियर डॉक्टर रात के समय रहते हैं कि नहीं इसकी जानकारी भी उन्होंने ली है। तेजस्वी ने कुछ महिलाओं से पूछा कि महिलाएं बाथरुम कहां जाती हैं ? एक महिला ने कहा कि पैसे देकर बाहर जाते हैं। तेजस्वी ने बाथरुम का हाल देखा।

कई मरीजों के परिजनों से इस विषय पर बात भी की : मरीजों के परिजनों ने शिकायत की है कि डॉक्टर पैसे के लिए बाहर की दवाएं लिख रहे हैं। साथ ही काउंटर पर दवाएं ही नहीं हैं तो लिखने से क्या फायदा होगा। तेजस्वी ने सीसीटीवी कैमरे के बारे में भी जानकारी ली है। साथ ही यह पूछा पीएमसीएच का सुपरीटेंडेंट कौन है? उन्होंने कई जगह गंदगी की फोटो भी खिंचवाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *