Cock Fight में लड़ रहे मुर्गे ने अपने ही मालिक की ले ली जान, पुलिस ने भेजा जेल – होगी कोर्ट में पेशी

Desi murga fight

डेस्क : मुर्गों की लड़ाई करवाना कानूनन अपराध है। यह अपराध करता कोई भी व्यक्ति पाया जाता है तो उसको कानून के अंतर्गत सजा दी जाती है और उस पर उक्त कार्यवाही होती है। मुर्गों की लड़ाई करवाना जानवरों के प्रति हिंसा दर्शाता है। अक्सर ही लोग अपने मजे के चक्कर में मुर्गों की लड़ाई करवाते हैं। कहीं कहीं तो इसको परंपरा के तौर पर देखा जाता है। ऐसे में मुर्गों को काफी चोट आती है।

जब उसने अपने मजे के लिए मुर्गों की लड़ाई करवाना शुरू की तो वह चाकू उछल कर उसकी कमर पर लग गया। चाकू के कमर पर लगते ही कमर से खून की धारा बहने लगी, खून की धारा कुछ इस तरीके से बही कि वह रुकी ही नहीं। आसपास वालों की नजर जब तक उस पर पड़ी तब तक काफी देर हो चुकी थी। जल्द से जल्द उसको अस्पताल ले जाया गया लेकिन अस्पताल में मौजूद डॉक्टरों ने उसको मृत घोषित कर दिया। यह घटना तेलंगाना के जगतियाल जिले की है। लेकिन, कभी-कभी इसका विपरीत भी हो जाता है। तेलंगाना में एक शक्स नाम सतीश मुर्गों की लड़ाई करवाने के लिए 2 मुर्गे लाया। एक मुर्गे की टांग पर उसने धारदार चाकू बांध दिया।

बता दें कि भारत के दक्षिणी क्षेत्र में जितने भी गांव हैं। ज्यादातर गांव में आपको मुर्गों की लड़ाई नहीं होती नजर आएगी। यह मुर्गों की लड़ाई बेफिजूल नहीं होती बल्कि इनको करवाया जाता है। अब जब इस मुर्गे की लड़ाई के दौरान व्यक्ति की मौत हो गई तो लोगों का कहना है कि पुलिस वालों ने मुर्गे को पुलिस थाने में बंद कर दिया है। लेकिन, पुलिस का कहना है कि उन्होंने ऐसा बिल्कुल भी नहीं किया है। यह भी बात चल रही है कि जल्द पुलिस इस मुर्गे को अदालत में पेश करने वाली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *