बिहार में चल रहा था फर्जी थाना का खेल – ₹500 की दिहारी पर काम कर रहे थे नकली पुलिसवाले..

डेस्क : बिहार में फर्जी पुलिसवाले तो पकड़ाते ही रहते हैं, इस बार तो पूरा का पूरा एक थाना ही फर्जी निकला. यह फर्जी थाना पिछले 8 महीने से इस इलाके में एक्टिव था और लोगों से धन उगाही कर रहा था. आश्चर्य की बात यह है कि जिला मुख्यालय में चल रहे इस फर्जी थाने की किसी को कानों कान खबर तक नहीं थी. बता दें कि यह फर्जी थाना बांका शहर के एक निजी गेस्ट हाउस में ही चल रहा था.

इस फर्जी थाने के बारे में बांका थानाध्यक्ष ने बताया कि एक गुप्त सूचना के आधार पर किसी अपराधी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस वहाँ गई थी. जब वह छापेमारी कर थाना लौट रही थी तो उसी समय बांका गेस्ट हाउस के सामने सड़क पर एक अनजान महिला और युवक पुलिस ड्रेस में दिखे. शक के आधार पर जब उनसे पूछताछ की गई तो फर्जी थाने का मामला भी सामने आया.

बांका थानाध्यक्ष ने बताया कि गिरफ्तार महिला अनिता खुद को दारोगा बता रही थी और वह बिहार पुलिस के फुल ड्रेसअप में भी थी. उसके पास से एक अवैध पिस्टल भी बरामद हुआ है. जबकि पकड़े गए दूसरे आरोपी का नाम आकाश कुमार बताया गया है. वह खुद को थाने का चौकीदार बता रहा था. गिरफ्तार अनिता बांका जिले के फुल्लीडुमर के दुधघटिया की रहने वाली है. उसने बताया कि फुल्लीडुमर के रहने वाले भोला यादव ने बिहार पुलिस के दारोगा में भर्ती कर बांका के इस कार्यालय में तैनात किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *