हादसे का शिकार होने से बाल-बाल बची मिथिला एक्सप्रेस, डरकर चीखने लगे यात्री….

डेस्क : हावड़ा से र क्सौल जा रही मिथिला एक्सप्रेस उस वक्त हादसे का शिकार होने से बाल बाल बच गई, जब इसके इंजन के ठीक पीछे वाली बोगी से लोहे की एक सीढ़ी टकरा गई। सीढ़ी के टकराने और इसके ट्रेन के अगले हिस्से में फंस जाने से इतनी तेज आवाज हुई कि ट्रेन में बैठे सभी यात्री डर गए।

विभागीय लापरवाही आई सामने- दरअसल मुजफ्फरपुर के माड़ीपुर पुल के पास प्री-एनआई कार्य चल रहा है। यही पे कंस्ट्रक्शन विभाग ने लापरवाही बरतते हुए सिग्नल के टावर की सीढ़ी बिना ढलाई किए पटरी के पास छोड़ दी। यही पे जब हावड़ा मिथिला एक्सप्रेस पार कर रही थी तो उसके इंजन के बाद वाली बोगी में यह सीढ़ी टकराकर फंस गई और घिसटने लगी। इस टक्कर से बहुत तेज आवाज उत्पन्न हुआ, जिससे सभी यात्री डर गए।

जाँच के आदेश दिए गए- टक्कर की आवाज सुनकर लोको पायलट ने ट्रेन को रोक दिया जिससे बड़ा हादसा टल गया। ट्रेन को रोकने के बाद इसमें फंसी हुई सीढ़ी निकाली गई। इस घटना के वजह से ट्रेन करीब आधे घंटे तक माड़ीपुर में रुकी रही। इसके बाद इसे मोतिहारी के लिए रवाना किया गया। हावड़ा मिथिला एक्सप्रेस के साथ ऐसे हादसे की सूचना मिलते ही मुख्यालय तक हड़कंप मच गया है। विभागीय लापरवाही की वजह से ऐसी घटना को देखते हुए डीआरएम ने जाँच के आदेश दे दिये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.