बिहार के इस इंजीनियर के ठिकानों पर छापा मार उड़ गए निगरानी विभाग के होश , मिली करोडों की बेनामी संपत्ति..

डेस्क : बिहार के एक इंजीनियर की संपत्ति के बारे में सुन कर आप चौक जाएंगे। सिवान में पदस्थापित इस इंजीनियर के ठिकानों पर जब निगरानी विभाग की टीम ने छापा मारा तो वो भी हतप्रभ रह गए। दरसअल सिवान में पदस्थापित जिला परिषद अभियंता धनंजयमणी तिवारी पास से तकरीबन 4 करोड़ की बेनामी संपत्ति का पता चला है। आय से अधिक संपत्ति का पता चलने के बाद निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने इंजीनियर के कई ठिकानों पर रविवार को छापेमारी की थी।

मिली करोड़ो की संपत्ति- रविवार को जब निगरानी अन्वेषण विभाग की टीम ने इंजीनियर के ठिकानों पर छापेमारी की तो उन्हें 10 लाख के मूल्य के आभूषण समेत कई अन्य संपत्तियों का भी पता चला। इंजीनियर धनंजयमणी तिवारी के पास से 22 बैंक खाते, 20 जीवन बीमा पॉलिसी और अन्य कई संपत्तियों के भी कागजात मिले हैं। निगरानी विभाग के मुताबिक अभी तक इंजीनियर के पास से तकरीबन 4 करोड़ की बेनामी संपत्ति का पता चला है , जिसके कागजात धनंजयमणी तिवारी पेश नहीं कर सके हैं।

19 फरवरी को दर्ज किया था मुकदमा- निगरानी अन्वेषण ब्योरो की टीम ने 19 फरवरी को आय से अधिक संपत्ति रखने के आरोप में इंजीनियर के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। निगरानी विभाग ने इसी मामले में रविवार को इंजीनियर के कई ठिकानों को एक साथ खंगाला। निगरानी विभाग के मुताबिक धनंजयमणि तिवारी ने बरामद हुई संपत्तियों के बारे में अपने टैक्स विवरण में कोई जानकारी नहीं दी थी।

मिल सकती है और भी अधिक संपत्ति- निगरानी विभाग के अधिकारी अभी और भी अधिक छानबीन कर रहे हैं , विभाग के मुताबिक इंजीनियर धनंजयमणी तिवारी की और भी संपत्तियों का पता चल सकता है। गौरतलब है कि धनंजयमणी तिवारी कुछ दिन पहले सेवानिवृत्त हो गए थे। इसके बाद वह सिवान जिला परिषद कार्यालय में अभियंता की जिम्मेदारी संभाल रहे थें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.