बिहार के इस ज़िले में बनेगा राज्य का पहला बटरफ्लाई पार्क, जानिए- पर्यटकों को क्या क्या सुविधाएं मिलेगी..

न्यूज डेस्क: बिहार धीरे-धीरे पर्यटन के क्षेत्र में आगे बढ़ता जा रहा है, इसका सबसे प्रमुख क्रेडिट राज्य सरकार को जाता है., क्योंकि राज्य सरकार के नेतृत्व में लगातार बिहार में छिपे विभिन्न पर्यटन स्थलों को बढ़ावा दिया जा रहा है। राज्य में ऐसे कई प्राकृतिक स्थल है जो अभी भी विकास से कोसों दूर है, लेकिन इसी बीच अब रोहतास जिले के महत्वपूर्ण धार्मिक एवं इको पर्यटन स्थल “तुतला भवानी” में राज्य का प्रथम बटरफ्लाई पार्क बनाया जाएगा। इसके साथ ही तुतला भवनी के समीप हर्बल पार्क भी विकसित किया जाएगा।

रोहतास डीएफओ (डिविजनल फॉरेस्ट ऑफीसर) प्रद्युम्न संपूर्ण जिला वासियों को बधाई देते हुए बताया की इसकी प्रक्रिया शुरू कर दी गई। बटरफ्लाई पार्क से पर्यटन को और बढ़ावा मिलेगा और क्षेत्र के इको सिस्टम में भी सुधार होगा। तितलियां इको सिस्टम की महत्वपूर्ण कड़ी है। तितली रहेगी तो मेढ़क और सांप भी आएंगे। कई प्रकार के कीड़े-मकोड़े भी इस श्रृंखला से जुड़े हैं। यहां ऐसे पौधे व घास लगाए जाएंगे, जिनमें तितलियां अपने अंडे देती है।

इस पार्क में तितली का संरक्षण किया जाएगा : बता दे की इस पार्क में नीबू, धान, बरगद, पाम, रेटल पॉट, फूल घास, बेल लगाए जाएंगे। पर्याप्त भोजन होने व वासस्थल की वजह से तितली इसी पार्क में मंडराती दिखेंगी। तितली अलग-अलग पौधों पर अंडा देती हैं। अंडे से लार्वा, लार्वा से प्यूपा व प्यूपा से तितली बनती है। इससे तुतला भवनी आने वाले पर्यटकों को तितली के बारे में जानने का मौका भी मिलेगा।

जीव संरक्षण के साथ-साथ रोजगार का भी बढ़ावा मिलेगा: बता दें की रोहतास जिले में तुतला भवानी के क्षेत्र में हर्बल पार्क बनाया जाएगा। इसका उद्देश्य हर्बल खेती को बढ़ावा देना एवं हर्बल उद्योगों के क्षेत्र अधिक अवसर का सृजन करना है। साथ ही स्थानीय लोगों द्वारा क्षेत्र में हर्बल पौधों की खेती और उपयोग को लोकप्रिय बनाना, पर्यटकों के आकर्षण के लिए प्रकृति आधारित हर्बल पर्यटन केंद्र का विकास करना, हर्बल क्षेत्र में स्थायी आजीविका को बढ़ावा देना एवं हर्बल प्रसंस्करण उद्योग के क्षेत्र में हर्बल की खेती और उपयोग को लोकप्रिय बनाना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.