Bihar में Gold के बाद मिला “काला हीरा” का भंडार, बोरिंग के दौरान मिला स्त्रोत.. जानें –

डेस्क : बिहार के JGF (Jamui Gold Fields) के नाम से चर्चित हो रहे जमुई जिले में गोल्ड और लोहे के भंडार होने की प्रबल संभावना के बाद से, अब बिहार के जमुई जिले में कोयले का भी विपुल भंडार होने की प्रबल संभावना प्रकट हो गई है। बरहट प्रखंड के भट्ठा गांव में सरकारी चापालक के लिए बोरिंग का कार्य चल रहा था। 50 फीट तक पाइप जाने के बाद से कोयला (काला हीरा) निकलने लगा। कोयला निकलने के इस वाकये के बाद से ग्रामीण और स्‍थानीय प्रशासन भी हैरान हो गया। इससे जमीन के अंदर कोयले का भंडार होने की संभावना प्रकट हो गई है।

आपको बता दें कि जमुई में सोने और लोहे का भंडार मिलने की बात भी पहले सामने आ चुकी है। अब जमीन के अंदर से कोयले का भंडार होने की संभावना सामने आने के बाद प्रशासन भी काफी अलर्ट हो गया है। दरअसल, भट्टा गांव में पानी की परेशानी को लेकर PHED विभाग बोरिंग करवा रहा था। बताया जा रहा है कि 50 फीट के बाद से ही कोयले का अंश मिलना शुरू हो गया।

ग्रामीणों का कहना है कि इस गांव में जब भी बोरिंग किया गया है तो इसी तरह से कोयला का अंश मिला है। ग्रामीण इसकी जांच की मांग करने लगे हैं। भट्टा गांव के सादे कोड़ा ने यह बताया कि गांव में जब भी चापानल के लिए बोरिंग शुरू हुआ तब यह देखने को मिला है। 40 से 50 फीट की गहराई की खुदाई के बाद से कोयला मिलना शुरू हो जाता है। गांव वालों को पूरा भरोसा है कि जमीन के अंदर कोयला है। यही बात भट्टा के पड़ोसी ललमटिया गांव के प्रमोद चौधरी ने भी बताई । गांव वालों का कहना है कि बोरिंग के दौरान निकले उस मलवे में कोयला ही है। जब इसे जलाने का प्रयास किया गया तो वह ठीक कोयले की तरह जला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *