गजब! युवक ने भैंस के लिए थाने में काट ली नस, खून से लिखा- ‘परिवार समेत कर लूंगा सुसाइड’..जानें – मामला

डेस्क : बिहार पुलिस की कार्यशैली पर बड़ा सवाल खड़े करने वाली घटना नालंदा जिले के सिलाव थाने में सामने आई हैं। नगर पंचायत के एक सफाईकर्मी की दो भैंस चोरी हो गई थी। चोरी की प्राथमिकी (FIR) दर्ज कराने लिए वह 3 दिनों से थाना और SP कार्यालय के चक्कर लगा रहा था। इसके बाद भी उसकी शिकायत दर्ज नहीं की जा रही थी। इससे आहत हुआ सफाईकर्मी सिलाव थाना गेट के सामने परिवार के साथ खड़ा हो गया और अपने हाथ की नस को काट लिया। उसने खून से कागज पर लिखा की FIR दर्ज नहीं होने पर वह परिवार के साथ जहर खाकर यही आत्‍महत्‍या (Suicide) कर लेगा। पुलिस पदाधिकारियों को जब इसकी भनक लगी तो विभाग में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पीड़ित का आवेदन ले लिया गया

FIR के लिए पहुंचा थाने, फटकार कर भगाया : पीड़ित सिलाव के कड़ाह गांव निवासी मो. आजाद ने यह बताया कि वह नगर पंचायत के कूड़ा उठाने वाली गाड़ी को चलाता है। बटाई पर उसने दो भैंसे ली थी, जिससे परिवार के 8 सदस्यों का भरण पोषण कर रहा था। रविवार की रात बदमाशों ने उसकी दोनों भैंसे चोरी कर ली। अगले दिन सोमवार को वह घटना की FIR का आवेदन देने सिलाव थाना पहुंचा, जहां से उसे डांट फटकार कर भगा दिया गया।

SP के आदेश के बावजूद थाने में फिर की टालमटोल : थाने से भगाए जाने के बाद उसने SP को आवदेन दिया। वरिष्ठ पदाधिकारी ने सिलाव पुलिस को मामले को दर्ज करने का आदेश दिया। इसके बाद बुधवार को वह फिर से FIR दर्ज कराने थाने पहुंचा, जहां पदाधिकारी फिर से पीड़ित से टालमटोल करने लगे।

थाने के गेट पर अपने खून से लिखा- कर लूंगा सुसाइड : पीड़ित सफाईकर्मी इससे निराश हो गया। निराशा की स्थिति में उसने सिलाव थाने के गेट के सामने अपने हाथ की नस काटकर कागज पर अपने खून से लिखा कि वह परिवार के साथ जहर खाकर यही आत्‍महत्‍या कर लेगा। घटना के दौरान उसका परिवार भी उसके साथ था। इसके बाद पुलिस ने उसका आवेदन ले लिया।

DSP का जानकारी से इनकार, बोले- होगी जांच : राजगीर DSP प्रदीप कुमार ने बताया कि मामला उनके संज्ञान में नहीं है। किस परिस्थिति में पीड़ित की पFIR दर्ज करने में टालमटोल की गई, इसकी निष्पक्ष जांच की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *