विदेश से लौटने पर नहीं थे पैसे, इसलिए रेसप्शनिस्ट का किया काम और बच्चों को दिया ट्यूशन – दुसरे प्रयास में पास की UPSC परीक्षा

IPS POOJA YADAV

डेस्क : आज की युवा पीढ़ी विदेश में कमाना चाहती है। जो भी विदेश जाता है वो वहीँ का होकर रह जाता है। वहीँ दूसरी तरफ ऐसे भी लोग हैं जो विदेश में रहते हुए भी अपने घर को नहीं भूलते। आज हम बात करने वाले हैं पूजा यादव के बारे में जिन्होंने ऐसा काम कर दिखाया है, जिसकी जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है। पूजा ने अपनी जिंदगी के महत्वपूर्ण वर्ष जर्मनी और कनाडा में बिताए हैं। पूजा यादव ने अपनी पढ़ाई हरियाणा से की है, उन्होंने फ़ूड एंड टेक्नोलॉजी में एम टेक किया है।

पढाई के बाद वह विदेश चली गईं थी और वहां उन्होंने काम करना शुरू कर दिया था। विदेश में उनका मन नहीं लगा और उन्हें बार बार यही लगता रहा की अपने देश के लिए कुछ करना चाहिए जिसके चलते वह वापस आ गईं। वापस आते ही उन्होंने UPSC परीक्षा देने का निर्णय लिया और तैयारी शुरू कर दी। उन्होंने जी-तोड़ परिश्रम किया लेकिन सफलता उनके हाथों में पहली बार नहीं लगी। वह अपनी पढ़ाई में लगी रही और दुसरे प्रयास में उन्होंने यूपीएससी क्लियर कर लिया। साल 2018 में वह आईपीएस अफसर नियुक्त हो गईं थी।

उनकी आर्थिक स्थिति इतनी सही नहीं थी, लेकिन आर्थिक हालातों को उन्होंने कभी आगे नहीं आने दिया। उनके परिवार ने उनका खूब साथ दिया बता दें की पैसे जमा करने के लिए उन्होंने कभी रिसेप्शनिस्ट का काम किया है और बच्चों को टूशन पढ़ाया है। आईपीएस पूजा यादव बताती हैं की जो लोग UPSC की तैयारी करते हैं उनको अपने शौक ख़त्म करने चाहिए क्यूंकि यह तैयारी लंबी और थकान भरी होती है।

जब आप थक जाएं देर अपने शौक की तरफ मुड़ जाएं जिससे आप दोगुना तेजी से तैयारी करें। पूजा यादव का कहना है कि जब आपकी यूपीएससी परीक्षा पास हो जाती है तो सब सही हो जाता है समय धैर्य बनाए रखना एक अहम बात है आईपीएस पूजा यादव ने आईएएस विकल्प भारद्वाज से शादी की है। इस वक्त पूजा यादव के ढाई लाख फॉलो वर्ष है उनका कहना है कि हमेशा ही लोगों से संपर्क बनाना उनकी जिंदगी का एक अहम हिस्सा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *