बिहार में दिनदहाड़े चोरों ने चुराया 60 फीट लंबा लोहे का पुल, किसी को कानों कान खबर नहीं- जानिए पूरा मामला..

26
bihar chori vardaat

डेस्क : आप लोगों ने चोरी की अजब-गजब वारदातों के बारे में काफी पढ़ा और सुना होगा। लेकिन, आज आप लोगों को एक ऐसे चोरी के वारदात के बारे में बताइए जिसे जान आप भी हैरत में पड़ जाएंगे। दरअसल, चोरों ने 60 फीट लंबा और 20 टन वजनी लोहे का पुल चोरी कर लिया है। यह बात सुनने में भले ही आपको अजीब लगेगी।

लेकिन चोरों ने ऐसा कुछ कर दिखाया है। आपको यह बात जानकर आश्चर्य हुआ कि स्मार्ट चोरों ने इस हैरतअंगेज चोरी की वारदात को दिनदहाड़े अंजाम दिया। लेकिन स्‍थानीय अधिकारियों को इसकी भनक तक नहीं लगी। अब मामले सामने आने के बाद ग्रामीण हैरान परेशान हैं तो दूसरी ओर प्रशासन में खलबली मच गई है। यह पूरा बकाया मामला बिहार के रोहतास जिला के नासरीगंज थाना क्षेत्र के अमियावर की है।

bihar pull chori

बताया जा रहा है, की कुछ लोग खुद को सिंचाई विभाग का अधिकारी बताकर आए और नहर पर बने लोहे के पुराने पुल को काटना व उखाड़ना शुरू कर दिया। चोरों ने अपने साथ कई प्रकार के आधुनिक मशीन और गैस कटर से काट दिया। और जेसीबी से उसे उखाड़ कर गाड़ी पर लादा और आराम से चलते बने। इस दौरान जब स्थानीय लोगों ने सवाल किया तो उन्होंने खुद को सिंचाई विभाग का अफसर बताया। बाद में पता चला कि वे सिंचाई विभाग के अधिकारी नहीं, बल्कि शातिर चोर थे।

bihar pull chori by thieves

जानकारी के लिए बता दें कि इस पुल का इस्‍तेमाल नहीं हो रहा था। ग्रामीणों का कहना है कि उक्त पुल से निकले लोहे को कई खेप में पिकअप पर लाद कर ले जाया गया। उक्त पुल से निकले बीस टन से अधिक लोहे को लगभग दिन दहाड़े लूट लिया गया है। वही, इस घटना को लेकर राजनीतिक गलियारे में भी हलचल तेज हो गई है। इधर, ग्रामीण उक्त घटना को हजम नहीं कर पा रहे हैं। सबसे अजीब वाली बात यह है कि 50 साल पुराने लोहे के पुल को उखाड़कर इसके मलबे को ट्रक पर लादकर अपराधी दिनदहाड़े ले गए।

लेकिन विभाग और प्रशासन को इसकी भनक नहीं लगी। यह पुल सोन नहर अवर प्रमंडल नासरीगंज के अमियावर गांव स्थित आरा मुख्य नहर पर स्थित कंक्रीट के पुल के समानांतर लगभग 25 फीट की दूरी पर स्थित था। वही, इस घटना को लेकर अधिकारियों का कहना है कि प्राथमिकी दर्ज कर विभागीय वरीय अधिकारी, अवर प्रमंडल अभियंता व एक्जक्यूटिव इंजीनियर को इसकी सूचना दे दी गई है। थानाध्यक्ष ने प्राथमिकी की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि विभागीय जेई द्वारा प्राप्त आवेदन के आलोक में प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस जांच में जुट गई है। उक्त पुल की चोरी की घटना से सभी लोग हैरान हैं।