Patna की सड़कों पर रिक्शे से घूमता है ये जांबाज़ IAS अफसर, सादगी जान हो जायेंगे कायल..

डेस्क : देश में ऐसे बहुत बिरले अधिकारी आपको मिलेंगे जिनके एक इशारे पर गाड़ियों की कतारे लग सकती है लेकिन वो चलते हैं तो छोटे से रिक्शा से, बगैर किसी भी लाव लश्कर और सुरक्षाकर्मियों के फौज के. आपने देश मे कई ऐसे IAS अधिकारियों को देखा और सुना होगा जो बिना गाड़ी और लाव-लश्कर के बिना घर से बाहर कदम तक नहीं रखते हैं, काम पर जाना तो दूर की बात हो जाती है. लेकिन बिहार में एक ऐसे सीनियर IAS अधिकारी हैं जिनके एक फोन पर ही सैकड़ों गाड़ियों की कतार और बॉडीगार्ड की भरमार तक लग सकती है, लेकिन इनकी सादगी ऐसी जो कभी सड़क पर साइकिल चलाते हुए भी नज़र आ जाएंगे तो कभी गोलगप्पे के दुकान पर गोलगप्पे का स्वाद चखते. ये अधिकारी पटना में रिक्शे की सवारी से भी परहेज नहीं करता हैं.

ias

आज हम बात कर रहे हैं बिहार कैडर के 1991 बैच के सीनियर IAS अधिकारी एस सिद्धार्थ की जो अभी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रधान सचिव बने हुए हैं साथ ही साथ इनके पास कैबिनेट और वित्त विभाग की भी जिम्मेदारी है, लेकिन इस अफसर की सादगी ऐसी है कि पटना की सड़कों पर बिना बॉडीगार्ड और बिना गाड़ी के अकेले ही घूमते हैं वो भी रिक्शे पर. बिहार के ईमानदार और स्वच्छ छवि के इस IAS अधिकारी की एक और खासियत है. सर्दी हो या गर्मी या बरसात हो हर मौसम में कहीं भी ये आपको वाइट शर्ट और ब्लैक पेैंट में ही नजर आयेंगे.

ias 1

जब कभी भी बिहार के विकास की बात होगी तो किसी भी काम को कम से समय में बहुत अच्छा और जनता के लिए फायदेमंद कैसे हो सकता है उसमें इनकी दिलचस्पी सबसे अधिक लगीं रहती है. ओहदे में उच्च पद पर बैठे एस सिद्धार्थ बीते शनिवार को दिन भर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ सुखाड़ का सड़क मार्ग से पटना से मुंगेर तक का जायजा लेने गए थे लेकिन पटना पहुंचने के बाद जैसे ही मौका मिला वो निकल पड़े शहर में चाय, चाट और गोलगप्पे का लुत्फ उठाने वो भी रिक्शे पर बैठकर. एस सिद्धार्थ की ये तस्वीरें सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रही हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *