BPSC पेपर लीक मामले में इओयू की जांच में आईएएस अधिकारी रंजीत कुमार का नाम शामिल

49
BPSC

डेस्क : बिहार लोक सेवा आयोग 67वीं की परीक्षा राज्य के सेंटर पर 8 मई को आयोजित की गई थी। जिसमें पेपर लीक और फिर उसकी पुष्टि होने के बाद आर्थिक अपराध इकाई को इसकी जांच के जिम्मेदारी सौंपी गई। अभी तक कुल 4 लोगों को इस मामले में गिरफ्तार किया जा चुका है। यहां सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इओयू की एफआईआर रिपोर्ट में दो ऐसे नंबरों का जिक्र किया गया है जो सरकार के ऊंचे अधिकारियों की है।

एफ आई आर रिपोर्ट में इस बात की जानकारी दी गई है कि परीक्षा प्रारंभ करने के निर्धारित समय के पहले पूछे जाने वाले हिंदी प्रश्न सेट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। साथ ही यह भी बताया गया था कि बिहार लोक सेवा आयोग की परीक्षा नियंत्रक को प्रश्न पत्र की प्रति उनके मोबाइल नंबर 9472276281, पर किसी दूसरे व्यक्ति जिनका मोबाइल नंबर 9472343001 पर 8 मार्च 2022 को 11:45 पूर्वाह्न पर भेजा गया।

एफआईआर. कॉपी से एक बात और स्पष्ट होती है आरा में हंगामा शुरू होने के पहले ही बीपीएससी की पेपर की खबर बीपीएससी दफ्तर को मिल गई थी। आरा में हंगामा 12:15 मिनट पर हुआ था। हालांकि इसके आधे घंटे पहले ही पेपर की कॉपी बीपीएससी के परीक्षा नियंत्रक के पास पहुंच गई थी।

दरअसल, जिस नंबर से बिहार लोक सेवा आयोग के परीक्षा नियंत्रक को प्रश्न पत्र भेजा गया था वह बिहार पंचायती राज के निदेशक और चर्चित आईएएस अधिकारी रंजीत कुमार की थी। इस नंबर के बारे में अधिक जानकारी पता करने पर यह नंबर https//safeexams.com की वेबसाइट पर कांटेक्ट में भी इसे पाया गया। वेबसाइट के डोमेन चेक करने के बाद भी सारा डिटेल और आईएस रंजीत कुमार का नंबर मिला। उनकी ईमेल आईडी [email protected] भी दर्ज है। जबकि दूसरा नंबर परीक्षा नियंत्रक अमरेंद्र कुमार का है।