इस महिला ने आईएएस अधिकारी बनकर भी नहीं छोड़ी गाँव की परम्परा, सोशल मीडिया पर दीखता है इनका देसी लुक

Monika Yadav Rajasthan Ias officer

डेस्क : आज का युवा आधुनिकता के नाम पर ना जाने क्या-क्या चीजें कर रहा है उसको यह लगता है कि पश्चिमी सभ्यता आधुनिकता है लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कुछ लोग उसका जीता जागता उदाहरण पेश कर रहे हैं बता दें कि आधुनिकता की चकाचौंध भरी दुनिया में भारत का युवा अपनी मिट्टी से दूरी बनाता जा रहा है। भारत में ऐसे युवा काफी कम है जो शिखर पर पहुंचने के बाद भी रीति रिवाज और रस्मों को श्रद्धा पूर्वक मना रहे हैं।

आज हम आपको एक ऐसे ही आईएस ऑफिसर के बारे में बताने वाले हैं जिन्होंने, एक से एक ऊंचाइयां हासिल की हुई हैं और वह अपने परिवार से ऐसे जुड़ी हैं जैसे कोई गांव की देसी बहु हो। आज हम बात करने वाले हैं आईएएस ऑफिसर मोनिका यादव की शादी हो चुकी है और उनकी बेटी भी है अब वह सोशल मीडिया पर अक्सर ही चर्चा में रहती हैं। मोनिका यादव के तेजतर्रार नहीं बल्कि सुर्खियों में आने की वजह उनकी शादी ही है। बीते समय में उनकी एक फोटो काफी चर्चित रही जिसमें वह अपनी बेटी को गोद में लिए हुए बैठे हुए हैं उन्होंने अपने राजस्थान की देसी पोशाक पहन रखी है जिसमें वह परंपराओं का निर्वहन करती दिख रही हैं बता दें कि मोनिका यादव सीकर जिले राजस्थान से आती हैं जिन्होंने 2017 में यूपीएससी परीक्षा में 403 रैंक हासिल की थी।

जब उन्होंने यह कारनामा कर दिखाया तो उनको राजस्थान कैडर दिया गया था। बता दें कि मोनिका के पिताजी राजस्थान एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस में कार्यरत हैं और मोनिका को अपने पिता से ही अफसर बनने की प्रेरणा मिली। मोनिका ने अपने सपने पूरे करने के लिए दिन और रात एक कर के परीक्षा की तैयारी की और सफलता हासिल की। उनकी शादी भी एक आईएएस ऑफिसर सुशील यादव से हुई है जो इस वक्त राजसमंद में एसडीएम के पद पर विराजमान हैं।वह कहती हैं कि हमें अपनी मिट्टी को कभी नहीं भूलना चाहिए है। उनकी सोशल मीडिया पर जो तस्वीर वायरल हुई है उसमें साफ पता चल रहा है कि वे लोगों को यह बताना चाहती हैं कि प्राचीन परंपराएं बेहद ही जरूरी है और हमें किस तरह से सादगी के साथ जीवन व्यतीत करना चाहिए।

वह अपने गांव की पुरानी संस्कृति से भी बहुत प्रेम करती हैं और जब भी कोई रीति रिवाज या कार्यक्रम होता है तो उसमें जरूर हिस्सा लेने की सलाह देती हैं। भले ही आज वह ऐसे पद पर हैं जो जिम्मेदारी से भरा है लेकिन देश की जिम्मेदारी और समाज की जिम्मेदारी के साथ-साथ व पारिवारिक जिम्मेदारी भी बखूबी निभा रही हैं। वह समय-समय पर सोशल मीडिया पर युवाओं को पास होने की टिप्स देती रहती है और हमेशा युवाओं को याद दिलाती है कि अपनी परंपराओं को कभी नहीं भूलना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *