बिहार की इस महिला अधिकारी ने किया दो करोड़ का घोटाला, जांच में हुआ ये बड़ा खुलासा

Desk : कब कहां और कैसे किसकी नियत खराब हो जाए इसका कोई अंदाजा नहीं लगाया जा सकता. गोलमाल करने से इंसान एक बार भी नही घबराता आलम यह है कि बड़े पदों पे बैठे लोगों को घोटाला करने का शौक आ गया हो. जैसा की अभी कुछ दिनों पहले झारखंड से एक ऐसा ही घोटाले का मामला सामने आया था

जिसके बाद अब बिहार से भी खबर आ गई की एक महिला अधिकारी ने दो करोड़ का घोटाला कर दिया. इस मामले में जो बातें निकलर सामने आई हैं उससे तो यह सौ फीसदी सच लगता है. बता दें कि यह पूरा मामला रोहतास जिले के बिक्रमगंज का है. जहां परिषद में ई-रिक्शा तथा सड़क पर लगाए गए मेटालिक सिग्नेचर साइन बोर्ड के लिए एक करोड़ 90 लाख से अधिक रूपयों में घपले का मामला सामने आया है. जिसके बाद जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार ने बिक्रमगंज की तात्कालिक कार्यपालक पदाधिकारी प्रेम स्वरूपम समेत अन्य कर्मियों पर मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं.

गौरतलब है कि इस मामले को लेकर बिक्रमगंज के एक वार्ड पार्षद एवं एक पत्रकार ने शिकायत की है। जिसके बाद डीएम धर्मेंद्र कुमार द्वारा बिक्रमगंज के अनुमंडल अधिकारी के नेतृत्व में तीन सदस्यीय जांच टीम बनाई गई और मामले की जांच शुरू हुई। मामले की जांच के बाद खुलासा हुआ कि सड़क पर लगाए गए मेंटालिक साइन बोर्ड के 1 करोड़ 11 लाख तथा ई-रिक्शा के खरीद के लिए 80 लाख रुपए से अधिक रूपयों का भुगतान किया गया है. मामले में इस बड़े खुलासे के बाद वर्तमान में कार्यपालक पदाधिकारी के खिलाफ एफआईआर के निर्देश दिए गए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.