Tokyo 2020: हॉकी में चक दे इंडिया! 40 साल बाद ऑस्‍ट्रेलिया को 1-0 से हराकर पहुंचे सेमीफाइनल में – हर तरफ ख़ुशी की लहर

डेस्क : भारतीय महिला हॉकी ओलंपिक टीम ने पहली बार ऐसा काम करके दिखाया है जो अब तक विश्व में भारतीय टीम द्वारा कभी नहीं हुआ था। बता दे कि भारतीय महिला हॉकी टीम ने अब क्वार्टर फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया को हरा दिया है। ऑस्ट्रेलिया को हराकर अब भारतीय टीम सेमीफाइनल में जगह बना चुकी है। ऐसे में सिर्फ गुरजीत कौर ने एक गोल दागा और भारतीय टीम को एक बड़ी बढ़त मिल गई।

ज्यादा जानकारी के लिए बता दें कि ओलंपिक में हॉकी की एंट्री 1980 में हुई थी, तब भारत हॉकी खेलने में अच्छा प्रदर्शन करता था। ऐसे में भारत चौथे स्थान पर था। उस वक्त भारतीय टीम मैडल से एक अंक की वजह मात्र पीछे रह गई थी। ऐसे में अब 36 साल बाद ऐसा होता दिख रहा है, जहां पर भारतीय टीम सेमीफाइनल तक पहुंच गई है।

जो मुकाबला भारतीय महिला टीम ने जीता है वह बड़ा चुनौतीपूर्ण था। लोगों का मानना था कि भारतीय टीम बहुत जल्द हार मान लेगी लेकिन भारतीय टीम की महिलाओं ने जिस प्रकार हैरतअंगेज परफॉर्मेंस दिया उससे सबकी आंखें स्तब्ध रह गई है बता दें कि ऑस्ट्रेलिया बीते 3 वर्षों से ओलंपिक चैंपियन है। वह अपने प्रतिद्वंदी को एक गोल भी नहीं करने देता है लेकिन भारतीय टीम का जलवा इस बार अलग ही देखने को मिला ऐसे में भारत के पहली बार सेमीफाइनल में पहुंचने से भारतीय खिलाड़ी बेहद खुश है। भारतीय टीम ने जो गोल दागा वह पेनल्टी कॉर्नर की वजह से हो पाया। ऐसे में पेनल्टी कार्नर गुरजीत कौर ने खेला था बात करें तीसरे और चौथे क्वार्टर खेल की तो उसमें भी दोनों जगह गोल नहीं हुए थे। ऐसे में मात्र 1-0 की बढ़त से भारत ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर सेमीफाइनल में जगह बना ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published.