Two Wheel Drivers हो जाएं सावधान, अब काम पेट्रोल होने पर भी कट जाएगा चालान

Two Wheel Drivers can be charged Challan because of less petrol: चालान को लेकर ये खबरें जोर पर है कि बाइक में पेट्रोल कम होने पर एक व्यक्ति को ट्रैफिक चालान का भुगतान करना पड़ा है। बता दे ये मामला केरल से सामने आया है, जहां एक व्यक्ति का चालान इसलिए काटा गया क्योंकि उनके बाइक में पेट्रोल कम था और वो मोटरसाइकिल (Two Wheel Vehicle) चला रहे थे। अब पुलिस द्वारा काटे गए उस चालान की एक तस्वीर व्यक्ति ने शेयर की और वो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। ट्रैफिक चालान में शख्स का नाम तुलसी श्याम बताया गया है। चालान रसीद के अनुसार, “यात्रियों के साथ पर्याप्त ईंधन के बिना गाड़ी चलाने” के लिए उन्हे 250 रुपये का जुर्माना भरना पड़ा।

श्याम ने फेसबुक पर एक पोस्ट साझा किया। इसमें उन्होंने बताया कि वह अपने रॉयल एनफील्ड क्लासिक 350 पर अपने ऑफिस जा रहे थे, तभी एक पुलिस वाले ने उन्हें वनवे सड़क पर उल्टी दिशा में गाड़ी चलाने के लिए रोका। जिसके बाद उन्हें 250 रुपये का चालान टिकट थमा दिया गया। जिसका उन्हें जुर्माना भरना पड़ा।

श्याम जल्दी में थे इसलिए चलान कटवा कर उसकी रसीद ली और ऑफिस चले गए। जब बाद में उन्होंने चालान की रसीद खोल कर उसकी वजह पढ़ी तो उसमें, उनका पेट्रोल कम होने की वजह बताकर चालान काटा गया था। फिर श्याम ने कुछ अधिकवक्ताओं से संपर्क किया, जिन्होंने उनको बताया कि वाहन में पेट्रोल कम होना किसी अपराध की कैटेगरी में नही आता।

कुछ दिन बाद मोटर व्हीकल डिपार्टमेंट के एक अधिकारी ने कॉल करके उनसे मामले की जानकारी ली थी। तो फिर श्याम ने जब उन्हें बताया कि क्या हुआ, तो उसे बताया गया कि “यात्रियों के साथ पर्याप्त ईंधन के बिना गाड़ी चलाना” अपराध है, पर ये आपके यह निजी वाहनों पर लागू नहीं होगा।

केरल परिवहन के मुताबिक, कमर्शियल व्हीकल पर फ्यूल से संबंधित अपराध लागू होता है। तो अगर चालक के वाहन का ईंधन बीमा यात्रियों को डेस्टिनेशन पहुंचाए खत्म हो जाए। तो ऐसे की चालक की गलती होती है और उन्हें( चालक या मालिक) को 250 रुपये का जुर्माना भरना पड़ता है।

श्याम ने कहा “यह केवल एक टाइपिंग भूल है। उन्होनें लिखा कि जब मैं रास्ते में था तब मेरी बाइक का पेट्रोल खत्म नहीं हुआ था, और इसके लिए किसी भी पुलिसकर्मी ने मुझ पर जुर्माना नहीं लगाया है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *