अनचाहे कॉल और ऑनलाइन ठगी से मिलेगा हमेशा के लिए छूठकारा, सरकार ने तैयार की नई रणनीति

cyber fraud india

cyber fraud india

डेस्क : आपकी फोन की घंटी बजती है और आप सरपट दौड़ते हैं फोन उठाने के लिए। लेकिन, जैसे ही फ़ोन उठाते हैं वैसे ही एक रिकॉर्डिंग कॉल कंपनी द्वारा चल पड़ती है। जिसके बाद आपको उस फोन को काटना होता है, ऐसे में दिन में चार से पांच बार या कभी-कभी इससे ज्यादा बार कंपनी वाले अपने रिकॉर्ड कॉल के जरिए लोगों को फोन करते हैं। इससे लोगों को काफी परेशानी होती है, ऐसे में सरकार ने लोगों पर तंज कसा है और ऐलान किया है कि अब से फ्रॉड करने वाली कंपनियों से जल्द छुटकारा मिल जाएगा।

अब ज्यादा से ज्यादा ग्राहक टेलीकॉम कंपनियों को यह बता पाएंगे कि उनके नंबर पर एस.एम.एस अनचाहे कॉल और धोखाधड़ी जैसी शिकायतें आ रही है। इसके लिए एक डिजिटल इंटेलिजेंस की स्थापना की जा रही है। यह फैसला टेलीकॉम मंत्री रविशंकर प्रसाद द्वारा लिया गया है उनका कहना है कि भारत में वित्तीय धोखाधड़ी बढ़ती जा रही है। इस कार्य को रोकने के लिए कुछ कदम उठाने जरूरी है।

खबर तो यह भी आई है कि अगर ग्राहक डू नॉट डिस्टर्ब अपने मोबाइल में सेट कर देता है तो उसके बावजूद टेलीकॉम कंपनी और टेलीमार्केटिंग कंपनियां उसको तंग करती है। रविशंकर प्रसाद का कहना है की एक नियमावली बनाई जाएगी और उसके तहत यह फैसला लिया जाएगा कि टेली-मार्केटिंग कंपनी और टेलीकॉम कंपनी किस तरह से प्रमोशन कर सकती हैं। डिजिटल धोखाधड़ी के चक्कर में लोगों की पुरानी से पुरानी कमाई लूट जाती है, इस तरह की घटनाओं को तत्काल रोक पाना मुश्किल हो जाता है। जिसके लिए डिजिटल इंटेलिजेंस यूनिट का गठन अनिवार्य है यह यूनिट इस तरह के मामलों की देखरेख करेगी। ग्राहकों के अकाउंट की सुरक्षा करने के लिए टेलीकॉम एनालिटिक्स मैनेजमेंट एंड कंज्यूमर प्रोटक्शन प्रणाली तैयार की जा रही है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *