इस त्योहार के सीजन में जम कर बिकेंगी गाड़ियां, जाने क्या है खास ऑफर्स

डेस्क : साल की दूसरी तिमाही में ऑटोमोबाइल की बिक्री में कमी देखी गई थी। FADA ने अपने रिपोर्ट में आंकड़े जारी किए थे जिसके अनुसार पिछली तिमाही में करीब 6 से 12% तक की कमी ऑटोमोबाइल की सेल रिटेल में देखी गई थी। पर अब ऑटोमोबाइल उद्योग को उम्मीद है कि त्योहारी सत्र में नई पेशकश और उत्पादन बढ़ने से कारों की सेल भी बढ़ेगी। बता दें त्योहार के साथ ऑटो उद्योग कारोबार को लेकर पॉजिटिव रूप से आशावादी है। त्योहारी सत्र में आमतौर पर ऑटोमोबाइल की बिक्री में बढ़त देखी जाती है। आपको बता दें इस साल त्योहारी सत्र 11 अगस्त को रक्षाबंधन से शुरू होकर 25 अक्टूबर को दिवाली तक रहेगा

ऑटोमोबाइल डीलरों के निकाय के अध्यक्ष विंकेश गुलाटी ने बताया, “हमें उम्मीद है कि नई पेशकश और बेहतर उत्पादन गतिविधियों के चलते इस साल त्योहारी सत्र यात्री वाहनों की बिक्री के लिहाज से सबसे अच्छा रहेगा। उद्योग पिछले 4-5 महीनों में औसतन तीन लाख से अधिक इकाइयों का उत्पादन कर रहा है। इससे खुदरा विक्रेताओं को मदद मिली है।”

आने वाले समय में में कुछ चुनौतियों के बारे में पूछने पर विंकेश गुलाटी ने भारत के कुछ हिस्सों में अनिश्चित मानसून, मुद्रास्फीति के दबाव और चीन-ताइवान युद्ध के आसन्न खतरे के बारे में बात की। आपको बता दें पूरे भारत में FADA 15,000 से अधिक ऑटोमोबाइल डीलरों का प्रतिनिधित्व करता है।

Tata Motors के अध्यक्ष (यात्री वाहन और इलेक्ट्रिक वाहन) शैलेश चंद्र ने कहा कि कंपनी को ‘त्योहारी सत्र के अंत तक ग्राहकों की मांग के बारे में कोई चिंता नहीं है। कंपनी को उम्मीद है कि दूसरी तिमाही में बेहतर सेमीकंडक्टर उपलब्धता के साथ वाहनों की आपूर्ति में सुधार होगा।’ साथ ही शैलेश चंद्र ने कहा कि ‘उच्च मुद्रास्फीति और ब्याज दर ऑटो मांग को प्रभावित कर सकती है, हालांकि दूसरी तिमाही में कोई तनाव नहीं है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *