पानी बना काल! साहेबपुर कमाल व शाम्हो में डूबने से दो लोगों की गई जान – एक पकड़ने चली थी तितली और दूसरा बचा रहा था घोड़ा

डेस्क : बिहार में बाढ़ और बारिश के भरे पानी की वजह से परेशानी बढ़ती जा रही है। बता दें कि बेगूसराय जिले में बीते दिन दो अलग-अलग इलाकों में 2 लोगों की जान चली गई। ऐसे में बाढ़ के पानी में डूबने से एक बच्चे की और एक पशुपालक की जान जा चुकी है, बता दें कि बीते 3 दिन से करीब 7 लोगों की मौत हो गई है। शाम्हो के लोग बाढ़ के पानी से परेशान है। ऐसे में कई पशुपालकों का जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है।

कई लोगों का जरूरी समान बहती हुई धारा में बह गया है। ऐसे में बता दें कि एक छोटी बच्ची अपने ननिहाल में खेल रही थी। खेलते-खेलते वह तितली पकड़ने के लिए आगे बढ़ी और पानी में डूब गई। इस छोटी बच्ची का नाम आशिया परवीन था, जिसकी उम्र 9 वर्ष थी। यह बच्ची साहेबपुर कमाल थाना क्षेत्र की है, जैसे ही मौत की सूचना मिली तो पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले लिया। फिलहाल के लिए बच्ची के शव का पोस्टमार्टम किया जा रहा है। वह अपनी नानी से मिलने आई थी। लेकिन उसे नहीं पता था कि उसके साथ यह घटना हो जाएगी।

इसी क्रम में शाम्हो थाना क्षेत्र में रह रहे 35 वर्षीय पप्पू यादव की मृत्यु मोहनिया ढाब में डूबने से हो गई। बता दें कि पप्पू यादव को बाढ़ आने की वजह से काफी परेशानी हुई थी ऐसे में वह अपना घोड़ा लेकर पलायन कर रहे थे। जब वह एक जगह छोड़कर दूसरी जगह की ओर बढ़ रहे थे तो तेज पानी के बहाव के कारण वह बड़की मुनिया ढाब के पास डूब गए। ऐसे में जब यह घटना हुई तो इलाके के बीडीओ नौशाद आलम और थानाध्यक्ष अरविंद कुमार मौके पर पहुंचे। दोनों ने घटनास्थल का जायजा लिया। इलाके में नाव की व्यवस्था ठीक से ना होने के चलते लोगों ने काफी गुस्सा किया। ऐसे में थानाध्यक्ष और बीडीओ वहां से चुपचाप अपने निजी कार्यालयों की ओर चले गए। फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.