"हम सभी को घूमना फिरना काफ़ी ज्यादा पसंद होता हैं शॉर्ट डिस्टेंस ट्रैवल में या तो हम बस से जाते है या फिर कार से , ऐसे में कार और बस में उल्टियां होती ही हैं। "

by kumari mili

" अक्सर लोगों को कार या बस में सफर में जी मचलाने और उल्टी से परेशान रहते हैं , कई बार सफर के दौरान सिर्फ कुछ घंटे बल्कि तीन-चार दिनों तक चक्कर, घबराहट, जी मचलने या उल्टी जैसी समस्याएं होती हैं । "

" उल्टी आदि लक्षण मोशन सिकनेस की ओर इशारा करता हैं यह कोई बीमारी नही बल्कि वह स्थिति है जब हमारे दिमाग को भीतरी कान, आंख और त्वचा से अलग-अलग सिग्नल मिलते हैं।  "

"ऐसे में किसी भी बड़े वाहन की पीछे की सीट पर बैठने से गति का एहसास अधिक होता है। सबसे अच्छा होगा कि बीच की सीट पर बैठा जाए। इसी तरह कार में फ्रंट सीट पर ही बैठने की कोशिश करनी चाहिए। "

"सफर के दौरान जी मचलने या चक्कर जैसा लगने की स्थिति में कोला ड्रिंक, अदरक, मिंट, कैंडी, च्वींग गम आदि के सेवन से आपको आराम मिल सकता है। "

"कभीकभार कार की एसी के कारण भी जी मचलता हैं ,अधिक दिक्कत होने पर खिड़की का शीशा खोल लें और बाहर की ओर मुंह करके बैठें। आप अच्छा महसूस करेंगे। "

"ऑफिस , कॉलेज , स्कूल में लेट होने से पूर्व ही लोग बिना कुछ खाए पिए निकल जाते हैं ऐसे में उन्हें मोशन सिकनेस अधिक होता है। हमेशा कहीं जाने से पहले घर से हल्का नाश्ता करके ही निकलें। "

for more stories

or visit us at