भैंस ने नोकीले सींघो से बलात्कारियों को मार भगाया, महिला मालिक की इज्जत पर नहीं आने दी आँच – गाँव के लोगों ने निकाली सम्मान यात्रा

44
bhains ne bachai ijjat

डेस्क : अक्सर ही जानवरों को देखकर लो उनको भगा देते हैं। जब भी जानवर कहीं जाते हैं तो लोग उनसे दूर हो जाते हैं, लेकिन वही जानवरों के मन में इस प्रकार की भावना नहीं होती। बल्कि कुछ जानवर तो इतने वफादार होते हैं कि वह अपने मालिक की जान बचा लेते हैं। कुछ इसी प्रकार से हमें आज एक भैंस की कहानी मिली है जिसने एक महिला की इज्जत लूटने से बचा ली।

बता दें कि इन दिनों सोशल मीडिया पर अनेकों ऐसी खबरें वायरल होती हैं जिनका कोई आधार नहीं होता। लेकिन आज हम आपके सामने एक ऐसी सच्ची घटना लेकर आए हैं जिसे जानकार आपको जानवरो के प्रति प्रेम बढ़ जाएगा। आज हम आपको एक भैंस के बारे में बताने वाले हैं। यह भैंस एक घरेलू जानवर है। ऐसे में भैंस ने कुछ इस प्रकार का काम किया है, जिससे हर कोई उसकी तारीफ करता नजर आ रहा है। दूध देने के अलावा भैंस घरवालों को इतनी ज्यादा प्यारी है कि वह उसकी दिन रात सेवा करते हैं।

यह घटना बेंगलुरु के हावेरी जिले के हीरेमराहल्ली गांव की है। महिला जिसकी उम्र 30 वर्ष है, वह भैंस चराने के लिए जंगल में गई हुई थी। बता दें कि महिला दूसरे लोगों के पशुओं को चराती है। ऐसे में जब वह भैंस चरा रही थी तो उसको दो आदमी आकर छेड़ने लगे थे। एक आदमी का नाम परशुराम है, दूसरे का नाम बसवराज है। दोनों ने जब महिला को देखा तो वह उसको मंदिर के पीछे झाड़ियों में ले जाने लगे थे। बता दें कि दोनों आदमियों की मंशा साफ झलक रही थी कि वह महिला के साथ संबंध बनाना चाहते हैं।

लेकिन इसी दौरान जब महिला अपनी इज्जत बचा रही थी तो वह जोर-जोर से चिल्ला रही थी और इस चिल्लाने की आवाज को उसकी भैंस ने सुन लिया था। भैंस महिला के पास दौड़ी चली आई और अपने नुकीले सींघ से दोनों आदमियों को मारने लगी। ऐसे में दोनों आदमी डर के मारे वहां से भाग खड़े हुए। इस घटना के बाद महिला ने सवणूर ग्रामीण पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई, फिलहाल पुलिस दोनों आरोपियों को ढूंढने का पुरजोर प्रयास कर रही है। ऐसे में जब महिला अपनी भैंस के साथ वापस घर पर आई तो सभी लोगों ने भैंस के सम्मान में यात्रा की। लोग भैंस के इस अनोखे और हिम्मत भरे किस्से की हर तरफ चर्चा कर रहे हैं।