कब जाएंगे बच्चे स्कूल ? जानिए शिक्षा व्यवस्था को लेकर क्या कहा नीतीश सरकार ने

डेस्क : कोरोना वायरस की वजह से भारत की शिक्षा व्यवस्था डामाडोल हो गई है। शिक्षा व्यवस्था को सरकार और स्कूलों के सभी लोगों ने मिलकर संभाला है। भारत के सभी राज्यों के सरकारी और प्राइवेट स्कूलों पर कोरोना का प्रभाव पड़ा है। बिहार भी इस परेशानी से अछूता नहीं है। बिहार में एक बार फिर से स्कूल खुल गए हैं, फिलहाल स्कूलों में बच्चों को जाने की अनुमति अभी नहीं मिली है। वहीं अब स्कूल के सभी शिक्षक और कर्मचारी स्कूल में आकर कार्य कर सकते हैं।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तरफ से शिक्षा को लेकर नए निर्देश जारी किए गए हैं। आदेश में साफ़ कहा है कि यदि कोई भी शिक्षक और कर्मचारी स्कूलों में नहीं मौजूद होते हैं तो उन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस संबंध में शिक्षा पदाधिकारी ने शनिवार को एक नोटिस जारी किया, जिसके तहत सभी शिक्षकों को या तलब किया गया कि वह जिस स्कूल में कार्य कर रहे हैं वहां पर समय से उपस्थित रहे।

बिहार के कई स्कूलों में मात्र 1 या 2 शिक्षक ही आ रहे हैं। ऐसे में स्कूलों के प्रधानाचार्य और ग्रामीण स्तर पे लोगों द्वारा शिकायत की गई है कि बिहार के शिक्षक अपने कार्य को जरा भी अहमियत नहीं दे रहे हैं। शिक्षकों के काम पर न आने की वजह से बड़े स्तर पर कार्य प्रभावित हो रहा है। फिलहाल सभी स्कूलों के प्रधानाचार्य को एक रिपोर्ट तैयार करने को कहा गया है। ऐसे में रिपोर्ट में सभी तरह की जानकारी स्पष्ट रूप से देने के निर्देश जिला शिक्षा पदाधिकारी संजय कुमार द्वारा दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.